वीरेंद्र हत्याकांड के आरोपी ने न्यायालय में किया सरेंडर

0
21
वीरेंद्र यादव फाइल फोटो
वीरेंद्र यादव फाइल फोटो

परवेज अख्तर/सिवान : जिले के बड़हरिया के चर्चित मिठाई दुकानदार वीरेंद्र यादव निर्मम हत्याकांड के एक आरोपित ने न्यायालय में आत्मसमर्पण कर दिया। लेकिन अभी भी इस मामले में मुख्य आरोपित सह मृतक के साढ़ू भाई सेना का जवान उमेश यादव पुलिस पकड़ से दूर है। आत्मसमर्पण करने वाला आरोपित मुफ्फसिल थाना क्षेत्र के गोपालपुर गांव निवासी हनुमंत यादव का पुत्र जितेंद्र यादव है। सरेंडर करने के बाद उसे न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया। बता दें कि बड़हरिया के चर्चित मिठाई दुकानदार वीरेंद्र यादव को अपराधियों ने विगत 12 अक्टूबर 17 की देर शाम दुकान बंद कर घर लौटते समय गोली मार कर हत्या कर दी थी। इस घटना को लेकर मृतक के भाई 357/17 दो मोटरसाइकिल सवार अज्ञात अपराधियों के विरुद्ध दर्ज कराई थी। बाद में पुलिसिया अनुसंधान में घटना में शामिल सगे साढ़ू इसी थाना क्षेत्र के नवलपुर गांव निवासी सह सेना जवान उमेश यादव, जितेंद्र यादव, प्रो. राम अवतार यादव एवं पचरुखी थाने के नयनपुरा गांव निवासी गोपाल यादव का नाम सामने आया। बता दें कि इस कांड के अप्राथमिक अभियुक्त सह मृतक के साढ़ू उमेश यादव अभी भी पुलिस पकड़ से बाहर है तथा दो अन्य अप्राथमिकी अभियुक्तों को न्यायालय से जमानत मिल गई है तथा जितेंद्र यादव की जमानत याचिका खारिज होने के बाद होई कोर्ट में जमानत अर्जी दाखिल किया तो न्यायाधीश ने उसे 42 दिन का समय देते हुए जिला कोर्ट से जमानत लेने का आदेश जारी किया था। बताया जाता है कि जैसे ही हाई कोर्ट की दी हुई तिथि की अवधि समाप्त हुई तो फरार चल रहे अप्राथमिकी अभियुक्त जितेंद्र यादव न्यायालय में आत्मसर्पण कर दिया। हत्याकांड में फरार चल रहे मृतक के साढ़ू सह चचेरा भाई उमेश यादव के घर की कुर्की पुलिस ने न्यायालय के आदेश पर विगत 26 मई को कर दी है।

Loading...

अपनी राय दें!

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.