मैरवा में ज्यादातर नए चेहरे पर मतदाताओं ने भरोसा जताया

0
  • माले के चार मुखियों को मिली है हार
  • तनवीर बने सबसे कम उम्र के मुखिया

परवेज अख्तर/सिवान: जिले के मैरवा प्रखंड के सात पंचायतों में मुखिया के पद पर काबिज लोगों को मतदाताओं ने नकार दिया है। इस बार सात पंचायतों में नए चेहरे पर मतदाताओं ने भरोसा जताया है। मुडियारी पंचायत के मुखिया अजय भाष्कर चौहान और सेमरा के मुखिया रामप्रवेश रजक अपनी कुर्सी बचाने में कामयाब रहे है। लेकिन, माले के चार मुखिया अपना पद गवां दिए है। महागठबंधन के बाद पहली बार माले और राजद के समर्थक चुनावी मैदान में उतरे थे। कबीरपुर से अशोक प्रजापति और बड़गांव से योगेन्द्र कुशवाहा की पत्नी भी चुनाव हार गयी है। बभनौली पंचायत में भी माले का कब्जा अब नहीं रहा है।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
camp

इंगलिश पंचायत में अजय चौहान को तनवीर अहमद ने हरा दिया है। तनवीर इस बार सबसे कम उम्र के मुखिया है। मुखिया के साथ बीडीसी सदस्य पद के लिए लगभग सभी निर्वतमान सदस्य चुनाव हार गये है। निर्वतमान प्रमुख कमला कुशवाहा के पति और जद यू के प्रदेश सचिव संजय कुशवाहा चुनाव हार गये है। कमला कुशवाहा इस बार चुनावी मैदान में नहीं थी। उनके पति संजय के प्रमुख बनने का सपना पूरा नहीं हो सका। इस बार के चुनाव में सबसे ज्यादा युवा मतदाताओं ने वोट दिया था। इस बार बीडीसी पद के लिए भी लगभग दस नये लोग चुनकर आये है।