जात पात का बंधन तोड़कर मतदाताओं ने किया मतदान, चित्तौड़गढ़ का किला रहा कामयाब

0
matdaan

परवेज अख्तर/सिवान : लोकसभा चुनाव 2019 में इस बार मतदाताओं ने जात-पात का बंधन तोड़कर अपने मत का प्रयोग किया। इस बार एनडीए प्रत्याशी जनार्दन सिंह सिग्रीवाल ने पहले के सारे रिकॉर्ड को ध्वस्त कर शानदार जीत दर्ज की है। सारण प्रमंडल के चारों प्रत्याशियों की तुलना में सबसे ज्यादा मत से चुनाव जीते हैं। शायद जनार्दन सिंह सिग्रीवाल को भी यह नहीं लगता होगा कि इतने मतों से वे विजयी होंगे।कुछ मतदाताओं की माने तो क्षेत्र में तो मोदी लहर जबरदस्त थी ही साथ ही सिग्रीवाल की लोकप्रियता, सहनशीलता भी इतनी बड़ी जीत का कारण है। सिग्रीवाल के बारे में कहा जाता है कि क्षेत्र से जो भी मतदाता किसी कार्य को लेकर जाते हैं उसे वे अपने स्तर से अवश्य कराते हैं। कभी इस क्षेत्र का प्रतिनिधित्व पूर्व प्रधानमंत्री चंद्रशेखर भी कर चुके हैं। जब चंद्रशेखर यहां से चुनाव लड़े थे तो उन्हें लग रहा था कि वे अपने गांव में हैं। वे एक-एक मतदाताओं से मुलाकात करते थे। यही कारण था कि महाराजगंज से ज्यादा मतों के अंतर से जीते बलिया से कम। महाराजगंज लोकसभा का गठन जब से हुआ यह चितौड़गढ़ के नाम से जाना जाता है। इस बार भी जनार्दन सिंह सिग्रीवाल ने चितौड़गढ़ की किला बचाने में कामयाब रहे।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
dr faisal