पूर्व सांसद के निधन पर पैतृक गांव सहित क्षेत्र में शोक की लहर

0
shahabuddin's home

परवेज अख्तर/एडिटर इन चीफ :
चर्चित राजद के पूर्व सांसद डॉ. मो. शहाबुद्दीन के निधन पर क्षेत्र के समर्थकों में शोक की लहर है. पूर्व सांसद मो. शहाबुद्दीन का निधन कोरोना संक्रमण होने के कारण दीनदयाल उपाध्याय अस्पताल दिल्ली में एक मई की सुबह इलाज के दौरान हो गया है. जिसके बाद उनके गांव सहित जिले के राजद कार्यकर्ताओं शोक की लहर दौड़ पड़ी. शहाबुद्दीन के निजी सचिव अजय तिवारी ने बताया कि तिहाड़ जेल में उनका बैरक अन्य कैदियों से बिल्कुल अलग था. वे हमेशा अकेला रहते थे.

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
dr faisal

वे किसी से मिलते जुलते नहीं थे. फिर वे कोरोना पॉजिटिव कैसे हो गया. उन्होंने गंभीर मामला बताते हुए जांच की मांग की है. वहीं मो. शहाबुद्दीन के पुत्र ओसामा ने भी दिल्ली कोर्ट और उच्च पदाधिकारियों को आवेदन देते हुए मांग किया है कि मेरे पिता की इलाज के क्रम में लापरवाही बरती गयी है. जिसके कारण उनकी मौत हो गई है.

gav

इसकी जांच होनी चाहिए. उन्होंने कोर्ट से शव को पोस्टमार्टम कराने के लिए मांग किया है कि उनकी मौत की सच्चाई सामने आ जायेगा. इधर शहाबुद्दीन की मां बहुत उम्रदराज हो चुकी हैं. इसलिए उनके शव को दफनाने के लिए प्रतापपुर लाने के लिए प्रशासन से गुहार लगाई हैं. इधर शहाबुद्दीन के निधन की खबर सुनते ही प्रतापपुर गांव की सभी दुकानें उनके शोक में बंद रही. पुरे गांव में मातमी सनाटा था. सभी की आंखें नम थी.