छपरा के डोरीगंज में देखेते देखते नदी में समा गई नाव, सभी सवार को सुरक्षित बचाया गया

0

छपरा : छपरा के डोरीगंज में बालू लदी नाव देखते देखते गंगा नदी के लहरों में समा गई। डोरीगंज घाट छपरा के बालू व्यव्साय केंद्र के रूप में एक हैं। यहाँ रोजाना हजारो की संख्या में नाव से बालू का परिवहन होता है। जो उतरी बिहार सहित उत्तरप्रदेश के पूर्वांचल क्षेत्र में जाता है। स्थानीय लोगो ने बताया कि गंगा नदी में जलस्तर बढ़ जाने और नाव पर ज्यादा बालू लदे होने के चलते नाव नदी के लहरों से टकराकर अपना सन्तुलन खो दिया जिसके बाद नाव अचानक से डूब गई। छपरा : छपरा के डोरीगंज में बालू लदी नाव देखते देखते गंगा नदी के लहरों में समा गई। डोरीगंज घाट छपरा के बालू व्यव्साय केंद्र के रूप में एक हैं। यहाँ रोजाना हजारो की संख्या में नाव से बालू का परिवहन होता है। जो उतरी बिहार सहित उत्तरप्रदेश के पूर्वांचल क्षेत्र में जाता है। स्थानीय लोगो ने बताया कि गंगा नदी में जलस्तर बढ़ जाने और नाव पर ज्यादा बालू लदे होने के चलते नाव नदी के लहरों से टकराकर अपना सन्तुलन खो दिया जिसके बाद नाव अचानक से डूब गई।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
dr faisal

नाव पर सवार एक दर्जन से अधिक लोगो ने नाव से कूदकर अपनी जान बचाई। वीडियो में देखा जा सकता है कि बालू भरी नाव नदी के लहरों के साथ हिलोरे खाती असन्तुलित हो रही है और एकाएक बानी में समा जाती है। नाव पर सवार सभी लोग उफनती गंगा नदी में कूदकर अपनी जान बचा रहे है। नाव पर सवार लोगो ने बताया कि नाव पटना जिला के मनेर थाना क्षेत्र के हल्दी छपरा गाँव की थी जो बालू लेकर डोरीगंज घाट पर आ रही थी। पानी मे तेज बहाव के चलते असंतुलित हो डूब गई। नाव पर सवार सभी लोग सुरक्षित है । नाव को डूबते देख उसपर सवार एक दर्जन से अधिक लोग पानी मे कूद गए। मौके पर मौजूद आसपास के नाविकों ने अपने लेकर डूबती नाव के पास जा सभी सवार लोगो को सुरक्षित बचा लिया। डूबती नाव की वीडियो भी बचाव के लिए गए नाव पर से बनाया गया है।जिसमे सभी सवार लोगो को सुरक्षित डूबने से बचाते हुए देखा जा सकता है। नाव डूबने के वीडियो शोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है ।