जनवरी के मुनाफे पर टिकी शराब कारोबारियों की नजर, तस्करी जोरों पर

0
sharab tarkar

सफेदपोश बन रहे फाइनेंसर , डबल का चल रहा खेल

परवेज अख्तर/सीवान:- एक तरफ शराबबंदी कानून की अवहेलना करने वालों के खिलाफ पुलिस प्रशासन पैनी नजर बनाए हुए हैं शराब कारोबारियों के साथ-साथ शराबियों तस्करों पर लगातार कार्रवाई की जा रही है सैकड़ों शराब धंधेबाजो को पुलिस ने सलाखों तक पहुंचा दिया है पुलिस की सक्रियता आए दिन शराब कारोबारियों को भारी पड़ रही है l सरकार के सख्त निर्देशों के पालन में प्रशासन ने एड़ी चोटी की जान लगा रखी है बावजूद जमीनी स्तर पर शराबबंदी, अधिकारियों की सख्ती, कारगर नहीं है नतीजा बड़े पैमाने पर जिले भर में शराब की तस्करी जारी है जिसका जीता जागता प्रमाण उस वक्त सामने आता है जब शराब की बड़ी खेप कभी-कभी पुलिस के हत्थे चढ़ जाती है । ट्रक ,ट्रेलर जैसे बड़े वाहनों से शराब बरामद किया जाता है । यूं कहें कि पुलिस डाल डाल तो शराब कारोबारी पात पात हैं । बरहाल स्थिति को ध्यान में रखते हुए बात करें तो ऐसा लगता है जैसे यह सिलसिला कभी खत्म होने वाला नहीं है पुलिस छापेमारी करती रहेगी, शराब बरामदगी होती रहेगी ,शराब कारोबारी जेल भी जाएंगे लेकिन धंधा जारी रहेगा । खैर फिलहाल दिसंबर कि शुरुआत हो चुकी है शराब कारोबारियों की नजर आगामी वर्ष के 1 जनवरी पर टिकी हुई है वर्ष के प्रथम दिन होने वाली शराब बिक्री और मोटे मुनाफे पर धंधे बाजों की पैनी नजर है और इसकी तैयारी भी शराब कारोबारियों ने शुरू कर दी है रुपयों की कमी की पूर्ति करने में वैसे लोग लगे हुए हैं जो सफेदपोश लिवास में समाज को गुमराह करते हैं और इसके पीछे दुगने कमाई के चक्कर में शराब कारोबारियों और तस्करों की आर्थिक समस्या हल करने में लगे हुए हैं । भला करे भी क्यों ना फायदा जो डबल का है । बरहाल शराब को लेकर पुलिसिया क्रियाकलापों की बात करें तो शराबबंदी के बाद इनके कार्य में कोई खास परिवर्तन नहीं कहा जा सकता है क्योंकि पहले भी पुलिस शराब जप्त करती थी शराब कारोबारियों को जेल भेजती थी तब और अब में फर्क इतना है कि पहले जप्त किया गया शराब अवैध होता था और अब ना तो अवैध है और ना ही वैध है । अहम बात है कि पहले की अपेक्षा फिलहाल शराब बरामदगी अधिक हो रही है इससे यही साबित होता है कि सरकार बिहार भर में जितना शराब अधिकृत रूप से बेचती थी शायद उससे अधिक शराब अनाधिकृत रूप से शराब कारोबारी और तस्कर दुगनी कीमतों में बेच रहे हैं । हालांकि पुलिस भी तत्पर है यही कारण है कि हाल ही में बड़हरिया पुलिस ने एक पिकअप पर लदे 90 कार्टून शराब को जप्त किया था ।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
dr faisal