शिवहर डीएम के खिलाफ पत्नी ने कराई FIR, पद का दुरुपयोग कर मामले को दबाने का लगाया आरोप, DM बोले पत्नी पीटती है एक बार हाथ तोड़ा

0

परवेज अख्तर/एडिटर इन चीफ:
बिहार में शिवहर के डीएम सज्जन राजशेखर पर उनकी पत्नी ने दहेज प्रताड़ना और घरेलू हिंसा को लेकर मुजफ्फरपुर के नगर थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई है। नगर थानाध्यक्ष ओमप्रकाश ने बताया कि कांड दर्ज कर मामले की जांच की जा रही है। प्राथमिकी में डीएम की पत्नी ने बताया है कि उनके पति दहेज के लिए उनको प्रताड़ित व मारपीट करते हैं। इतना ही नहीं तरह-तरह के हथकंडे अपनाकर उनके पति उन्हें पागल करने में लगे हैं। कहा कि एक मार्च को उनके साथ बर्बरता ढंग से मारपीट की गई। उनकी तीन साल की बेटी को उनसे अलग कर दिया गया।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
ad-mukhiya
muskan buty

कांड संख्या 450/ 2021 से दर्ज एफआईआर में दहेज अधिनियम की धारा 498a के अतिरिक्त 279 337 338 आईपीसी के तहत या केस दर्ज किया गया है. सिकंदरपुर ओपी के प्रभारी हरेंद्र कुमार को मामले की जांच का जिम्मा दिया गया है. दर्ज एफआइआर में डीएम की पत्नी जीएसएस सीतारा ने आरोप लगाया है कि अपने ऊंचे पद और रसूख का दुरुपयोग करते हुए डीएम आर सज्जन 1 मार्च से ही उन्हें प्रताड़ित करने आ करते आ रहे हैं. डीएम की पत्नी ने आरोप लगाया है कि शिवहर डीएम दहेज के लिए उन्हें प्रताड़ित करते हैं।

सितारा ने अपने आवेदन में बताया है कि इससे पहले भी पिटाई करने पर उनकी मां ने बिहार पुलिस से शिकायत की थी जिसे ब्यूरोक्रेसी के स्तर पर मैनेज कर लिया गया और उसके बाद वे मुजफ्फरपुर में रहने लगी लेकिन 16 जून को फिर उन्होंने वादिनी के साथ मारपीट की जिसके बाद नगर थाने को यह शिकायत की आवेदन दिया गया. डीएम की पत्नी ने आरोप लगाया है कि दोनों के बीच विवाद होने के बाद उन्होंने दो बच्चों समेत खुद के लिए मेंटेनेंस वाद भी दायर कराया था. इसी बीच डीएम ने 3 साल की उनकी बेटी को अपने कब्जे में ले लिया और बारगेन करने लगे कि मेंटेनेंस बाद वापस लिया जाए लेकिन यह वाद वापस नहीं लिया गया तो उनका अत्याचार और बढ़ता ही गया।

दर्ज शिकायत में यह भी आरोप लगाया गया है कि डीएम ने वादिनी को चलती कार से धक्का देकर गिरा दिया जिसमें उन्हें चोटें आई और बचाने में उनकी मां को भी चोट आई है. इस मामले में उन्होंने मुजफ्फरपुर पुलिस से उचित कार्रवाई की मांग की है. आवेदन में डीएम की पत्नी ने यह भी कहा है कि डीएम जिस तरीके का स्वभाव जनता के बीच दिखाते हैं उनका असली स्वभाव ठीक इसके विपरीत है. इस मामले में नगर डीएसपी राम नरेश पासवान ने फोन पर कहा है कि मामले की प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है. अनुसंधान किया जा रहा है जो भी तथ्य सामने आएंगे उसके अनुसार कार्रवाई की जाएगी।

इस पूरे मामले में डीएम सज्जन राजशेखर ने कहा कि ससुराल पक्ष के लोग साजिश के तहत मुझपे ये इल्जाम लगा रहे हैं. उन्होंने कहा कि ससुराल पक्ष के लोग हमेशा मुझसे रुपये का डिमांड करते रहते थे जिसका विरोध करने पर इस तरह की साजिश रची गई और मुझे बदनाम की कोशिश की जा रही है. उन्होंने कहा कि बच्चे का पहला बर्थडे मनाने गया था तो वहां सुनियोजित तरीके से मेरे साथ बदसलूकी की गई और मेरे साथ ही मारपीट की गई. इस घटना में मेरा हाथ फ्रैक्चर हो गया. इसी सब मामले को लेकर इस तरह का आरोप मुझपे लगाया जा रहा है. उन्होंने कहा कि अपनी पत्नी को लगातार साथ रहने के लिए बुला रहे हैं लेकिन उनकी पत्नी अपने दोनों बच्चों को साथ लेकर मुजफ्फरपुर में अकेले रहना चाहती है। डीएम की पत्नी मुजफ्फरपुर के मजिस्ट्रेट कॉलोनी स्थित एक सरकारी क्वार्टर में रह रही हैं।