महिलाओं का जागरूक होना समाज के लिए जरूरी है: जिला जज

0

परवेज़ अख्तर/सिवान :- महिलाओं को जागरूक बनाकर ही हम एक मजबूत समाज का निर्माण कर सकतें हैं। उक्त बातें मण्डल कारा के महिला वार्ड में पिछले दस दिनों से राज्य विधिक सेवा प्राधिकर पटना के निर्देश् पर काराधीन महिलाओं एवम उनके बच्चों के लिए आयोजित” विधिक जागरूकता एव उनकी सेवाओं में विस्तार ” कार्यक्रम के समापन समारोह को सम्बोधित करते हुए जिला एवम सत्र न्यायाधीश सह अध्यक्ष जिला विधिक सेवा प्राधिकार ,सीवान ने कही। उन्होंने आगे कहा कि विधिक जागरूता का अर्थ महिलाओं को समग्र रूप से जागरूक कर उन्हें अपने अधिकारों के प्रति संवेदनशील एवम सशक्त बनाना है। इस अवसर पर परफेक्ट विजन एनजीओ के सचिव मनोज मिश्र द्वारा उपलब्ध कराए गए नूतन वस्त्र ,फ्लावम अन्य सामग्रियों को जिला जज ने एक एक कर सभी बन्दी महिला एवम बच्चों को प्रदान किया।
कार्यक्रम का संचालन करते हुए जिला विधिक सेवा प्राधिकर के सचिव एस के त्रिपाठी ने कहा कि विगत 10 दिनों में महिला वार्ड में काराधीन सभी बंदियो का मेडिकल चेकअप, शैक्षणिक कार्यक्रम,स्वरोजगार एवम पुनर्वास से सम्बन्धित प्रशिक्षण दिया गया है जो इनके भविष्य के लिए काफी महत्वपूर्ण है।

इस अवसर पर 10 दिवसीय जागरूकता कार्यक्रम के सभी सदस्य मण्डल कारा के अधीक्षक राकेश कुमार,महिला हेल्पलाइन की प्रबन्धक स्वेता कुमारी,जिला बाल संरक्षण के रवि प्रकाश,जिला शिक्षा विभाग के रमेश कुमार,महिला चिकित्सक डॉ मिताली,परफेक्ट विज़न के मनोज मिश्रा डीएलएसए के पैनलिस्ट अधिवक्ता शशि प्रभा के अतिरिक्त रिटेनर एडवोकेए अनिल सिंह ,डॉ विजय कुमार पांडेय,नाजिर जी किशोर शर्मा , दीपक मिश्रातथा प्रभात कुमार आदि उपस्थित थे।