गोपालगंज के मांझा में उत्तर प्रदेश और राजस्थान से पैदल आ रहे है मजदूर

0
majdur log

परवेज अख्तर/गोपालगंज:- कोरोना के इस संकट के काल मे उतर प्रदेश और राजस्थान से प्रवासी मजदूरों के द्वारा पैदल तथा साइकिल से आने की शिलशिला रुकने का नाम नही ले रहा है। उतर प्रदेश से पच्छिम बंगाल ठेला और पैदल जाते हुए सैकड़ो मजदूरों को कोइनी उच्च पथ 28 ठेला और साइकिल तथा पैदल जाते हुए देखे गए वही दो मजदूर मधुसरया गांव के प्रवासी मजदूर राज स्थान से साइकिल चला कर 11 दिनों में घर पहुच गए है

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
dr faisal

परन्तु ये लोग माहामारी से संक्रमित है कि नही इसकी जांच से बचे हुए जिसके चलते ऐसे लोगो के गांव में रहने से लोग भयभीत है कि अगर संक्रमित होंगे तो पूरे गांव को परेशानी झेलनी पड़ेगी ग्रामीणों का कहना है पैदल और साइकिल से घर आने वाले प्रवासी मजदूर की चिन्हित कर जांच होना चाहिए तथा कोरेटाइन सेंटर में ही कुछ दिनों तक रखने की व्यवस्था की जाय तो जल्द ही माहामारी पर विजय हासिल किया जा सकता है। प्रशासन व आम लोगों की सक्रियता की जरूरत है।