बागमती नदी में डूबा युवक, मौत के बाद नाराज भीड़ ने मचाया तांडव, तोड़फोड़ के बाद गाड़ियों में लगाई आग

0

पटना: छठ पूजा के दौरान बेगूसराय जिले के बखरी के शकरपुरा में एक युवक डूब गया। जिसके बाद उसकी मौत हो गई। इसके बाद धीरे-धीरे स्थिति विकराल हो गई। भीड़ ने दो गाड़ियों को आग के हवाले कर दिया। हालात को काबू पाने के लिए पुलिस को हवाई फायरिंग भी करनी पड़ी।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
camp

बताया गया है कि बखरी के शकरपुरा गांव निवासी मदन रजक का 22 वर्षीय नंदकिशोर रजक उर्फ नंदकु रजत छठ पूजा के दौरान बागमती नदी में डूब गया। जिसे इलाज के लिए बखरी के सरकारी अस्पताल में लाया गया। जहां से डॉक्टरों ने उसे बेगूसराय रेफर कर दिया। रास्ते में उसकी मौत हो गई।

स्थानीय लोगों का आरोप है कि रेफर करने के बजाय पीएचसी में सही ढंग से उसका इलाज किया जाता तो उसकी जान बच सकती थी। इसी बात से नाराज होकर लोगों ने अनुमंडल चौक के समीप सड़क जाम कर दिया। धीरे-धीरे पीएचसी में लोगों की भीड़ जमा होने लगी। देखते ही देखते सुबह के करीब 8 बजे के बाद लोग आक्रोशित हो गए।

भीड़ ने उपद्रव शुरू कर दिया। पीएचसी के ओपीडी समेत अन्य रूम में लोहे के रॉड, लाठी डंडे और पत्थरों से तोड़फोड़ शुरू कर दी गई। उपद्रव के दौरान अस्पताल के उपकरणों को भी रूम से बाहर निकाल कर क्षतिग्रस्त कर दिया गया। भीड़ ने एसडीपीओ आवास में भी तोड़फोड़ किया।

इस दौरान स्थिति को नियंत्रण करने आए परिहारा ओपी की गाड़ी को भी आग के हवाले कर दिया। साथ ही पीएचसी प्रभारी की प्राइवेट गाड़ी और आवासीय परिसर के बरामदे को भी आग के हवाले कर दिया। लोगो को समझाने गए अधिकारियों के अलावा समाचार संकलन को गए पत्रकारों के साथ भी मारपीट और बदसलूकी की गई।

उपद्रवियों ने फायर बिग्रेड की गाड़ी को भी क्षतिग्रस्त कर दिया। इस दौरान कई लोगो को चोटें भी आई हैं। पुलिस ने भीड़ को नियंत्रण करने के लिए हवाई फायरिंग भी की। समाचार प्रेषण तक कई थानों की पुलिस और अतिरिक्त बलों को स्थिति को नियंत्रण करने के लिए लगाया गया। साथ ही डीएम अरविंद कुमार वर्मा और एसपी अवकाश कुमार ने घटनास्थल पर पहुंचकर हालात का जायजा लिया।

अपनी राय दें!

Please enter your comment!
Please enter your name here