सिवान में सड़क दुर्घटना में घायल युवक की जाम ने ले ली जान

0
  • जमसिकड़ी के समीप तीन बाइकों की टक्कर में युवक की गई जान
  • बीमार नाना को दिखाने के बाद घर लौट रहा था मृतक

परवेज़ अख्तर/सीवान:
जिले के मुफस्सिल थाना क्षेत्र के जमसिकड़ी गांव के समीप तीन बाइकों की आमने-सामने की टक्कर में एक युवक की मौत हो गई जबकि दो लोग घायल हो गए. मृतक की पहचान मैरवा थाना क्षेत्र के तीतरा निवासी रामविलास गुप्ता का 24 वर्षीय पुत्र  रंजीत गुप्ता के रूप में की गई. घटना के संबंध में ल पिता रामविलास ने बताया कि गुरुवार की सुबह मृतक के नौनिहाल महोद्दीपुर से फोन आया कि उसके नाना का तबीयत खराब है दिखाना है. जिसके बाद मृतक के परिजनों ने कहा कि तुम सीवान जाकर अपने नाना को दिखा दो. मृतक अपने नाना के दिखाने के बाद पुनः महोद्दीपुर पहुंचा कर अपने घर की तरफ जा रहा था. तभी रास्ते में ही जमसीकड़ी गांव के समीप तीन बाइक आमने-सामने टकरा गये.जिसमें युवक गंभीर रूप से घायल हो गया.घायलावस्था में समाजसेवी श्रीनिवास यादव ने एक वाहन पर युवक को इलाज के लिए सदर अस्पताल ला रहे थे लेकिन अधिक जाम लगने के कारण वाहन जाम में फस गयी.और युवक सदर अस्पताल समय से नहीं पहुंच पाया.ज्यादा खून गिरने के कारण उसकी मौत हो गई. मौत की सूचना के बाद अस्पताल पहुंचे परिजनों का रो-रो कर बुरा हाल हो गया.उधर पोस्टमार्टम के बाद  जैसे ही मृतक का शव गुरुवारकी देर रात्रि उसके पैतृक गांव पहुंचा  तो परिजनों की हृदय विदारक चीत्कार से पूरे गांव में कोहराम मच गया.मृतक के शव को देख उसके  परिजन दहाड़ मार बिलखने लगे.

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2022-08-26 at 7.27.12 PM
WhatsApp Image 2022-08-26 at 8.35.34 PM
WhatsApp Image 2022-09-15 at 8.17.37 PM

भाई बहनों में सबसे बड़ा था मृतक

मिली जानकारी के अनुसार मृतक दो भाई एवं एक बहन है.जिसमें मृतक सबसे बड़ा था. वही मृतक के घर अब उसके एक भाई संजीत और एक बहन काजल बची हुई है.इधर पिता का भी स्थिति दयनीय बताए जा रहे हैं. बताया जा रहा है कि मृतक के पिता एक छोटी सी दुकान में सब्जी बेचने का काम करते हैं.

28 को थी मृतक की परीक्षा

मृतक के पिता ने बताया कि मृतक बी एड का विद्यार्थी था. जिसा परीक्षा 26 को होने वाली थी. लेकिन परीक्षा स्थगित हो जाने के कारण वह 28 तारीख को परीक्षा देने वाला था. मृतक के पिता ने कहा कि कास 26 को परीक्षा होती तो मेरे पुत्र का जीवन बच जाता .लेकिन खुदा ना खसता किसकी नजर लग गई और मेरे पुत्र का सड़क दुर्घटना में मौत हो गया.