CM की सभा में पटाखा फोड़ने वाला युवक न्यायिक हिरासत में, FIR दर्ज, मुख्यमंत्री से मुलाकात नहीं होने की वजह से था परेशान

0

पटना: मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की सभा में पटाखा फोड़ने वाले शख्स को न्यायिक हिरासत में भेजा दिया गया है। आरोपी के खिलाफ सिलाव थाने में IPC की धारा 186,188,286,426,353 के अलावे 1908 विस्फोटक अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया गया है। बता दें कि सिलाव में आयोजित जनसंवाद कार्यक्रम के दौरान एक शख्स ने पटाखे फोड़े थे। जिससे वहां भगदड़ मच गई थी। शुभम आदित्य ने मुख्यमंत्री का ध्यान अपनी ओर करने के उद्देश्य से पटाखा फोड़ दिया। इसके बाद सुरक्षाकर्मियों ने उसे हिरासत में लेकर सिलाव थाना पुलिस के हवाले किया गया था।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2022-08-26 at 8.35.34 PM
WhatsApp Image 2022-09-15 at 8.17.37 PM
WhatsApp Image 2022-09-27 at 9.29.39 PM

राजगीर डीएसपी प्रदीप कुमार ने बताया कि गिरफ्तार युवक इस्लामपुर थाना क्षेत्र के सत्यारगंज निवासी स्व0 प्रमोद कुमार के 22 वर्षिय पुत्र शुभम आदित्य है। गिरफ़्तारी के बाद उसके घर की भी तलाशी ली गयी। लेकिन कोई आपत्तिजनक सामान बरामद नहीं हुआ। इसके बाद उसका मेडिकल टेस्ट भी कराया गया। जिसमें वह तंदरुस्त पाया गया। इसके बाद उसे न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया। गिरफ्तार आरोपी ने बताया कि काफी दिनों से वह सीएम से मिलने का प्रयास कर रहा था। मगर उनसे मुलाकात नहीं हो पा रहा था। मंगलवार को जब उसे पता चला कि उनका इस विधानसभा क्षेत्र में अंतिम कार्यक्रम है तो वह सिलाव अपने बाइक से मिलने के लिए आया था। जब मुख्यमंत्री उसके पास से गुजर गए और उससे बात नहीं हुआ तो गुस्से में आकर पॉकेट से पटाखा निकालकर वह फोड़ दिया। जिसके बाद सुरक्षाकर्मियों द्वारा उसे हिरासत में लेकर सिलाव थाना पुलिस के हवाले कर दिया गया था।

शुभम आदित्य की माने तो वह चार पटाखा लेकर आया था। एक पटाखा फोड़ा था और दूसरा पॉकेट में रखा हुआ था। इसके अलावा दो पटाखा बाइक की डिक्की में भी रखा हुआ था। वह अपने आप पर किशोरावस्था में गठित घटनाओं पर लेख लिखा था और वीडियो बनाया था। उसे ही वह मुख्यमंत्री को दिखाना चाह रहा था। सीएम के इस्लामपुर में हुए कार्यक्रम के दौरान जब उसकी मुलाकात नहीं हुई तो वह कुछ लिख कर वायरल करना चाह रहा था। लेकिन वह कर नहीं पाया था। उसी सिलसिले में वह सिलाव पहुंचा था। गिरफ्तारी के बाद आरोपी युवक अपनी गलती को स्वीकार कर पछतावा कर रहा है।