ब्रह्मा बाबा की 53 वीं स्मृति दिवस मनायी गई विश्व शांति दिवस के रूप में

0
  • महावीरी पथ के परमात्मा भवन में हुआ कार्यक्रम का भव्य आयोजन
  • शांत एवं आध्यात्मिक वातावरण में मनाया गया स्मृति दिवस

परवेज अख्तर/सीवान: शहर के महावीरी पथ स्थित प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय के परमात्मा दर्शन भवन में संस्था के संस्थापक परमात्मा के साकार माध्यम प्रजा पिता ब्रह्मा बाबा की 53 वीं स्मृति दिवस का आयोजन विश्व शांति दिवस के रूप में शांत एवं आध्यात्मिक वातावरण में संपन्न हुआ.इस अवसर पर अनेक गणमान्य नागरिकों चिकित्सकों एवं भाई बहनों द्वारा ब्रह्मा बाबा को श्रद्धा सुमन अर्पित किया गया. करीब 200 भाई- बहन उपस्थित हुए. राजयोगिनी बीके सुधा बहन ने कहा कि पिताश्री प्रजापिता ब्रह्मा बाबा का सब के प्रति निश्चल प्रेम और अलौकिक दृष्टि, अखंड तपस्या आज भी सभी के बरदनों से भर देती है तथा प्रेरणा देती है. वे एक सफल एवं कुशल प्रशासक भी थे.उनके द्वारा 1936 में स्थापित इस संस्था द्वारा पूरे विश्व में अध्यात्मिक क्रांति का आगाज हुआ. आज विश्व के 135 देशों में करीब 8500 से अधिक सेवा केंद्र संचालित हैं.

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
dr faisal

इसमें लाखों लोग अपना जीवन निर्विकारी एवं चरित्रवान बना रहे हैं. बाबा का स्वभाव अत्यंत शीतल एवं आशा मधुर थी.उन्होंने बताया कि बाबा अत्यंत पारखी,स्वच्छ बुद्धि एवं पवित्रता के अवतार थे. धर्यता, शांति, गंभीरता तथा खुशी सदैव उनके चेहरे पर दिखाई देती थी. उनमें अपार स्नेह और मर्यादा का संतुलन था.बाबा ने अपने सभी अधिकारों एवं सिद्धियों का प्रयोग दूसरों को सुख देने के लिए किया. बाबा 93 वर्ष की आयु में भी पूर्ण कर्मठ, आनंद के दाता, खुशियों के स्रोत तथा चिंता मुक्त बनाने वाले थे. कार्यक्रम में सभी आगत बंधुओं एवं नागरिकों को प्रसाद दिया गया. इस अवसर पर पीके प्रेम भाई, निर्मल भाई अनिल भाई नीरज भाई सुभाष भाई, डॉ आशुतोष कुमार, डॉ जे एएन प्रसाद, डॉ पीके गिरि, डॉ विजय भूषण सिंह, डॉक्टर राम इकबाल गुप्ता तथा गणमान्य नागरिक उपस्थित हुए.