हुसैनगंज में युवक की हत्या कर शव को सड़क किनारे फेंका, सनसनी

0

परवेज़ अख्तर/सिवान:
सिवान-सिसवन मुख्य सड़क पर हुसैनगंज थाने के फलदुधिया गांव के समीप मंगलवार की अलसुबह एक युवक की हत्या कर अपराधियों ने उसे शव को फेंक दिया। सुबह टहलने निकले ग्रामीणों ने युवक का शव देख पुलिस को सूचित किया। इधर गांव में शव मिलने की सूचना पर लोगों में सनसनी फैल गई। पुलिस ने मौके पर पहुंच शव का पंचनामा कर पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेज दिया। मृतक की पहचान एमएच नगर थाना के बड़का टड़ीला निवासी शोभर यादव का पुत्र पप्पू यादव के रूप में की गई है।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2022-08-16 at 8.56.45 PM
WhatsApp Image 2022-08-16 at 8.56.44 PM (1)
WhatsApp Image 2022-08-16 at 8.56.44 PM
WhatsApp Image 2022-08-16 at 8.56.42 PM (1)
WhatsApp Image 2022-08-16 at 8.56.43 PM (1)
WhatsApp Image 2022-08-16 at 8.56.44 PM (2)
WhatsApp Image 2022-08-16 at 8.56.42 PM
WhatsApp Image 2022-08-16 at 8.56.43 PM

बताया जाता है कि मंगलवार की सुबह ग्रामीण सड़क पर टहल रहे थे तभी सिवान-सिसवन मुख्य पथ पर फलदुधिया गांव में सड़क किनारे एक युवक का शव दिखाई दिया। वहीं उसकी बाइक पड़ी थी। लोगों ने इसकी सूचना एमएच नगर तथा हुसैनगंज थाने को दी। सूचना के अनुसार युवक चेहरे पर ईंट के चोट के कई निशान थे। ग्रामीणों में तरह- तरह की चर्चाओं का बाजार गर्म था। वहीं पुलिस का कहना है कि मोबाइल कॉल डिटेल व पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने पर ही मामले का खुलासा हो सकता है।

स्वजनों का रो-रोकर बुरा हाल 

एमएच नगर थाना के बड़का टड़ीला निवासी शोभर यादव के पुत्र पप्पू यादव की मौत के बाद स्वजनों का रो-रोकर बुरा हाल है। मां इंदु देवी रोते-रोते बेहोश हो जा रही थी। आसपास के ग्रामीण उसे सांत्वना दे रहे थे। मां का कहना था कि सोमवार की रात करीब 10 बजे मेरे पुत्र के मोबाइल पर फोन आय तभी वह अपनी बाइक लेकर चला गया। 11 बजे तक जब घर नहीं लौटा तो उसके नंबर पर फोन किया गया तो उसका मोबाइल बंद पाया गया। उसके मोबाइल बंद होने तथा घर नहीं लौटने से स्वजन परेशान हो गए। तभी सुबह उसकी मौत की सूचना मिली।

उसका कहना है कि मोबाइल के कॉल डिटेल से हत्यारों के बारे में जानकारी मिल जाएगी। मृतक दो भाई दो बहनों में सबसे बड़ा था। वह अरंडा पंचायत का पिकअप चलाने का काम करता था। उसकी मौत पर बहन संतरा कुमारी, मुनि कुमारी तथा भाई मिथिलेश यादव समेत अन्य स्वजनों का रो-रोकर बुरा हाल है। मृतक अविवाहित था। समाचार प्रेषण तक स्वजनों द्वारा थाने में आवेदन नहीं दिया गया था।