दारौंदा के 17 एवं महाराजगंज के 16 पंचायतों में दसवें चरण में हुए मतदान के बाद अब प्रत्याशी जुट गए आकलन में

0

परवेज अख्तर/सिवान : जिले के दारौंदा के 17 एवं महाराजगंज के 16 पंचायतों में दसवें चरण में हुए मतदान के बाद अब प्रत्याशी बूथवार मिले मतों के आकलन में जुट गए हैं। जिला परिषद, मुखिया, सरपंच, बीडीसी तथा वार्ड सदस्य तथा पंच पद के उम्मीदवार विभिन्न बूथों पर मिले संभावित मतों की गिनती शुरू कर दिए हैं। इस दौरान किसी के चेहरे पर संतोष तो किसी के चेहरे पर असंतोष की लकीरें देखने को मिल रही हैं। वे प्राप्त मतों के आंकड़े अपने पोलिंग एजेंट से प्राप्त कर जीत हार की संभावनाओं में खुद को तलाश रहे हैं। इस दौरान उनमें बेचैनी बढ़ती जा रही है। अब इन प्रत्याशियों को मतगणना का इंतजार है। ज्ञात हो कि दोनों प्रखंडों में जिला पार्षद समेत मुखिया, सरपंच, बीडीसी, वार्ड सदस्य, पंच के कुल 814 पदों के लिए 3285 प्रत्याशी चुनावी मैदान में थे, जिनके भाग्य का फैसला 461 बूथों पर मतदाताओं ने किया। बता दें कि दारौंदा प्रखंड में तीन जिला परिषद, 17 मुखिया, 17 सरपंच, 24 पंचायत समिति सदस्य, 227 वार्ड सदस्य तथा 124 पंच सदस्य पद के लिए मतदान हुआ। इन सभी पदों के लिए 1709 प्रत्याशी चुनावी मैदान में अपनी किस्मत आजमा रहे थे। इनमें जिला परिषद के तीन पद के लिए 42, मुखिया पद के लिए 168, सरपंच पद के लिए 110, पंचायत समिति पद के लिए 154, वार्ड सदस्य पद के लिए 938 तथा पंच पद के लिए 297 प्रत्याशी चुनावी मैदान में थे। वहीं दारौंदा प्रखंड में जिला परिषद के दो सीटों के लिए 25 प्रत्याशी चुनावी मैदान में थे। जबकि 16 मुखिया पद के लिए 164, 16 सरपंच पद के लिए 108, 22 बीडीसी पद के लिए 151, 218 वार्ड सदस्य के लिए 837 तथा 128 पंच पद के लिए 291 प्रत्याशी चुनावी मैदान में अपना भाग्य आजमा रहे थे।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
metra hospital

चुनाव परिणाम को ले प्रत्याशी व समर्थकों में दिख रही बेचैनी

दसवें चरण में आठ दिसंबर को 16 पंचायतों में हुए मतदान के बाद मतगणना परिणाम को ले विभिन्न पद के प्रत्याशी व उनके समर्थकों में बेचैनी देखी जा रही है। सभी अपने-अपने जीत के दावे कर रहे हैं। बस उन्हें इंतजार है 10 दिसंबर की सुबह मतगणना का। वहीं मतदान के बाद आम लोगों में चुनाव परिणाम को ले काफी उत्साह देखने को मिल रहा है। वहीं इस दौरान कुछ प्रत्याशियों के चेहरे पर निराशा भी झलक रही है.