…और चाँद के दीदार के लिए बेताब रही आँखे

0

सऊदी अरब में दिखा चांद, आज सेहरी तो कल रोजा, वही भारत में एक दिन बाद

परवेज़ अख्तर/ सिवान: रमजान के रोजे रखने की तैयारी पूरी कर ली गई है। गुरुवार 29 शाबान को रमजान का चांद देखने के लिए सूर्यास्त होते ही निगाहें चांद के दीदार को बेकरार रहेंगी। चांद दिखा तो मस्जिदों में तरावीह की नमाज शुरू हो जाएगी। अगले दिन से रमजान के रोजे शुरू होंगे। रमजान का रोजा एक महीने तक चलेगा। रमजान के रोजे रखने और तरावीह पढ़ने की तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। मस्जिदों में तराबी की नमाज के लिए व्यवस्था की गई है। नमाजियों की तादाद बढ़ने को ध्यान में रखते हुए अतिरिक्त जाए- नमाज की व्यवस्था की गई है। वही रोशनी, पानी और पंखा चलाने के लिए जनरेटर की व्यवस्था की गई है। अलग-अलग मस्जिदों में तरावीह की नमाज के लिए समय निर्धारित किए गए हैं। कहीं सूरह तरावीह तो कहीं खत्म तरावीह पढ़ी जाएगी। शादी विवाह का खुमार अभी बाजार से उतरा भी नहीं था कि रमजान की खरीदारी की शुरू होने की वजह से इन सामग्रियों के तेवर चढ़ने लगे। खरीदारी को बाजार में भीड़-भाड़ कुछ ज्यादा ही बढ़ गई है। इसके लिए बुधवार से शहर के काजी मोहल्ला, बड़ी मस्जिद, दरबार मस्जिद, मखदुम सराय, एमएम कॉलोनी, नवलपुर, मैरवा के बड़ी मस्जिद मिस्करही, लालगंज, बैकुंठ छापर, कैथवली, बड़गांव, डोमडीह, कोल्हुआ दरगाह, खैरा, हरपुर, बड़गांव समेत विभिन्न गांव में स्थित मस्जिदों में तरावीह पढ़ाई जाएगी। मस्जिदों में इफ्तार का आयोजन होगा। इसके अलावा गुठनी, दरौली, बड़हरिया, भगवानपुर, बसंतपुर, सिसवन समेत सभी प्रखंडों में तरावीह की नमाज पढ़ाने का इंतजाम किया गया है। रमजान में फलों की मांग बढ़ जाती है, लेकिन इस बार फलों के भाव आसमान छू रहे हैं। बाजार में चाइनीज सेव अपनी लालिमा दिखा रहा है। लेकिन कीमत आम लोगों के जेब पर भारी पड़ रहा है। सेब 200 रुपये प्रति किलो, अनार 100 रुपये किलो, संतरा 50 रुपये किलो बेचे जा रहे हैं। वहीं तरबूज 10 से 20 रपये प्रति किलो मिल रहा है। खजूर डेढ़ सौ से 400 किलो प्रति किलो तक बाजार में उपलब्ध है। इसी तरह चना 50 रुपये प्रति किलो चना दाल 55 रुपये प्रति किलो, सूजी 24 रुपये प्रति किलो मैदा 500 रुपये की बेसन 65 रुपये प्रति किलो बाजार में उपलब्ध है।​[sg_popup id=”5″ event=”onload”][/sg_popup]

Loading...