… और पुलिस पकड़ से दूर है सुमंत के हत्यारे

0
sumant htyakand

बड़कागांव में लगे महावीरी मेला को देखने गया था सुमंत

31 अगस्त को गोली मार कर की गई थी सुमंत की हत्या

घटना : मटुक छपरा गांव के समीप का

परवेज अख्तर/सिवान :- जिले के सराय ओपी क्षेत्र के बड़कागांव में 31 अगस्त को महावीरी मेला देखने जा रहे वैशाखी निवासी सुमंत कुमार (28) की गोली मारकर हत्या कर दी थी। इस घटना में 12 दिन बीत जाने के बाद भी पुलिस के हाथ अभी तक खाली हैं। हालांकि पुलिस दावा कर रही है कि कांड में शामिल सभी आरोपितों की गिरफ्तारी जल्द ही हो जाएगी। सराय ओपी के नए प्रभारी गोपाल जी पांडेय का कहना है कि मुहर्रम के एक दिन पूर्व ही योगदान किया। कांड का अवलोकन कर रहा हूं, एक से दो दिनों के अंदर सभी की गिरफ्तारी हो जाएगी। बता दें कि वैशाखी उत्तर टोला गांव निवासी सुमंत कुमार 31 अगस्त को बड़कागांव महावीरी मेला को देखने के लिए अपनी बाइक से जा रहा था। इसी बीच घात लगाए अपराधियों ने उसकी हत्या गोली मार कर दी।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
vigyapann
ads
parijan
शोकाकुल परिजन

इस घटना में बाइक पर पीछे बैठा एक व्यक्ति भी घायल हो गया था। घटना के बाद स्थानीय लोगों ने काफी बवाल काटा था। जांच के क्रम में यह बात सामने आई थी कि सुमंत ने गांव के कुछ शराब धंधेबाजों का विरोध करते हुए पुलिस को सूचित किया था। इसके बाद धंधेबाज नाराज थे। इसके बाद मौके का फायदा उठाकर उसे अपराधियों ने मौत के घाट उतार दिया। इस कांड में पिछले वर्ष सीएमएस कर्मी को गोली मारकर लूट की घटना को अंजाम देने वाला कुख्यात काली भी शामिल है। मामले में प्राथमिकी कांड सं. 129/19 दर्ज कराई गई थी जिसमें हरदिया पंचायत के मुखियापति प्रभुनाथ सिंह, गोल्डेन चौहान, कालीचरण एवं रंजन कुमार यादव को आरोपित किया था। चर्चा के अनुसार उसी ने सुमंत को गोली मारी थी। फिलहाल जब तक अपराधियों की गिरफ्तारी नहीं हो जाती है पुलिस के सारे दावे विफल हैं। वहीं दूसरी ओर सुमंत के परिजन इस घटना के डर के साए में हैं।