….और जब पूर्व सांसद डॉ.मोहम्मद शहाबुद्दीन के पुत्र ओसामा शहाब स्टार प्रचारक के रूप में हुए विख्यात

0

डोर टू डोर सघन दौरा के दौरान लग रहे हैं कुंभ के मेला जैसा दृश्य

परवेज़ अख्तर/सिवान:
बिहार विधानसभा चुनाव के दूसरे चरण में सीवान के 8 विधानसभा सीटों पर मतदान होना 3 नवंबर को होना सुनिश्चित है। जहां एक और चुनाव को लेकर प्रशासनिक तैयारी अपने उरूज पर है तो दूसरी तरफ क्षेत्रों में नेताओं का सघन दौरा लगातार जारी है। जहां एक तरफ जिला प्रशासन चुनाव को शांतिपूर्ण ढंग से संपन्न कराने के लिए सेना के जवानों के साथ फ्लैग मार्च कर रही है तो दूसरी तरफ से विभिन्न घटक दलों के शीर्ष नेताओं का क्षेत्रों में आना जाना लगा हुआ है। इसी कड़ी में सिवान के पूर्व सांसद डॉ. मोहम्मद शहाबुद्दीन के पुत्र ओसामा शहाब के प्रचार प्रसार में लगने के बाद वह भी क्षेत्रीय स्टार प्रचारक के रूप में विकसित होते जा रहे हैं। इनको देखने के लिए इलाके में लोगों की भीड़ उमड़ जा रही है। लोगों की उमड़ती भीड़ को देखकर सहज रूप से यह कहा जा सकता है कि यह कुंभ के मेले के जैसा दृश्य है।ओसामा शहाब के चुनावी दौरा के बाद क्षेत्रों में और चुनावी सरगर्मी तेज हो गई है।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
a1
ads
WhatsApp Image 2020-11-09 at 10.34.22 PM
adssssssss
a2

सीवान ऑनलाइन के सर्वेक्षण में अब तक सीवान के आठों विधानसभा क्षेत्रों में एनडीए गठबंधन तथा महागठबंधन के प्रत्याशियों के बीच रोमांचक मुकाबला होना तय माना जा रहा है। लेकिन कई विधानसभा क्षेत्रों में निर्दलीय प्रत्याशियों की बढ़ती लोकप्रियता के कारण अखाड़े के मैदान में लड़ाई और रोचक होते जा रही है। सीवान ऑनलाइन न्यूज के सर्वेक्षण में यह पाया गया है कि अबकी बार के बिहार विधानसभा चुनाव में कहीं भी पूर्ण रूप से असामाजिक तत्वों की दाल नहीं गल रही है। इस बार के चुनाव में लोग दलगत की भावनाओं से ऊपर उठकर अपने अपने मताधिकार का प्रयोग कर अपने-अपने जनप्रतिनिधि को चुनने का प्रयास कर रहे हैं। सीवान ऑनलाइन न्यूज़ के सर्वेक्षण के दौरान यह भी बात सामने आई है कि सीवान के आठों विधानसभा क्षेत्र में वोटर जात- पात की भावनाओं से ऊपर उठकर अपने अपने मताधिकार का प्रयोग आगामी 3 नवंबर को ईवीएम का बटन दबाकर करेंगे।

अबकी बार के चुनाव में दूर-दूर तक कहीं जात पात दिखाई नहीं दे रही है। इसी कारण से यह अनुमान लगाया जा रहा है कि सीवान के आठों विधानसभा क्षेत्र में एनडीए गठबंधन तथा महागठबंधन के बीच महासंग्राम होना तय है। एनडीए गठबंधन के शीर्ष नेताओं द्वारा पूर्व के जंगलराज का हवाला देते हुए अपनी प्रचार प्रसार में तेजी ला रहे हैं तो दूसरी तरफ महागठबंधन के शीर्ष नेताओं द्वारा बेरोजगारी के मुद्दे को समाप्त करने की बात को लेकर आम जनमानस के बीच जा रहे हैं। इसी कड़ी में सीवान के आठों विधानसभा क्षेत्र के दो विधानसभा सीट सबसे हॉट सीट माने जाने वाला बड़हरिया व रघुनाथपुर में सबसे ज्यादा एनडीए गठबंधन तथा महागठबंधन के शीर्ष नेता प्रचार प्रसार कर अपनी-अपनी वैतरणी को पार करने में लगे हुए हैं। यहां बताते चले कि बड़हरिया विधानसभा क्षेत्र से वर्तमान बीजेपी एमएलसी श्री टुन्ना जी पांडे के भाई श्री बच्चा जी पांडे महागठबंधन के सिंबल पर चुनावी अखाड़े में हैं।

जबकि एनडीए गठबंधन की ओर से सूबे के मुखिया श्री नीतीश कुमार के चहते सह वर्तमान विधायक श्री श्याम बहादुर सिंह को पार्टी ने चुनावी जंग में उतारा है। इसके अलावा बड़हरिया विधानसभा क्षेत्र में कई दिग्गज निर्दलीय प्रत्याशी भी चुनावी मैदान में हैं। वहीं रघुनाथपुर विधानसभा क्षेत्र की बात करें तो इस विधानसभा क्षेत्र से महागठबंधन की ओर से वर्तमान विधायक हरिशंकर यादव को पार्टी ने इन्हें दुबारा मौका देते हुए चुनावी अखाड़े में पहलवान रूपी प्रत्याशी बनाकर मैदान में उतारा है।जबकि इस विधानसभा क्षेत्र से एनडीए गठबंधन की ओर से जदयू के पूर्व जिलाध्यक्ष राजेश्वर चौहान इस विधानसभा क्षेत्र से प्रत्याशी के रूप में चुनावी मैदान में हैं। सीवान के कुल आठ विधानसभा क्षेत्र में सबसे रोचक लड़ाई बड़हरिया तथा रघुनाथपुर विधानसभा क्षेत्रों में होने की संभावना है। दोनों विधानसभा क्षेत्रों में दोनों गठबंधन के कई शीर्ष नेताओं का चुनावी सभा भी हो चुका है। फिलहाल अभी जारी है।

इसी कड़ी में सिवान के पूर्व सांसद डॉ.मोहम्मद शहाबुद्दीन के पुत्र ओसामा शहाब के चुनावी दौरा में उतर जाने के बाद इन दोनों विधानसभा क्षेत्रों में लड़ाई और रोचक हो गई है। वहीं गोरेयाकोठी विधानसभा क्षेत्र की बातें करें तो इस विधानसभा क्षेत्र में भी महागठबंधन के स्टार प्रचारक श्री तेजस्वी यादव तथा उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ महाराज के चुनावी सभा के बाद लड़ाई काफी रोचक हो गई है। वहीं दारौंदा विधानसभा क्षेत्र की बातें करें तो यहां भी एनडीए गठबंधन तथा महागठबंधन के शीर्ष नेताओं के चुनावी सभा के बाद दिन पे दिन लड़ाई और रोचक होते जा रही है। इसके अलावा सीवान, महाराजगंज, जीरादेई, दरौली विधानसभा क्षेत्र की बातें करें तो यहां भी एनडीए गठबंधन तथा महागठबंधन के बीच सीधी मुकाबला तय होनी मानी जा रही है।

बहरहाल चाहे जो हो आगामी 3 नवंबर को होने वाले द्वितीय चरण के मतदान में सीवान के आठों विधानसभा क्षेत्रों में एनडीए गठबंधन तथा महागठबंधन के प्रत्याशियों ने अपनी पूरी ताकत झोंक दी है। सभी प्रत्याशी अपने-अपने अंदाज में मतदाताओं को लुभाने का अथक प्रयास कर रहे हैं। लेकिन प्रत्याशियों के आगे मतदाता भी चतुर लोमड़ी अपने आप मे साबित हो रहे है। मतदाताओं की चुप्पी से प्रत्याशियों की बेचैनी दिन पे दिन बढ़ते जा रही है।