… और जब सारण डीआईजी मनु महाराज आ धमके सिवान

0

परवेज अख्तर/सिवान:
सीवान सारण रेंज के डीआइजी मनु महाराज ने शुक्रवार को सीवान पहुँचे. जहाँ डीआईजी ने कलक्ट्रेट में जवानों से गार्ड ऑफ आर्नर लिया। जिसके बाद एसपी कार्यालय कक्ष में क्राइम कंट्रोल के लिए बैठक की . बैठक में उन्होंने कहा कि सबसे पहले क्राइम पर रोक लगाया जाए जहां चोरी, लूट या शराब की तस्करी को हर हाल में रोकना है. वही अन्य मामलों में भी डीआईजी ने बारी-बारी से सभी थानाध्यक्षों की थाना क्षेत्र से संबंधित सभी फाइलों को गहनता से जांच की. उन्होंने कहा कि हर हाल में क्राइम को कंट्रोल करना है जहां पर इस तरह की घटना होगी वहां के थानेदारों पर कार्रवाई होगी. डीआइजी ने थानाध्यक्षों को अपने – अपने क्षेत्र में ठंड के दौरान संवेदनशील इलाकों में विशेष निगरानी रखने और रात्रि गश्ती के साथ साथ बैंक, बाजार, मार्केट, पेट्रोल पंप विशेष नजर रखने की निर्देश दिया.

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
dr faisal

वहीं उन्होंने यह भी कहा कि सिवान पुलिस को काफी उपलब्धियां मिली है. मंगलवार को बुधवार की संध्या शहर के मेडिकल हॉल पर हुई फायरिंग मामले में डीआईजी ने कहा कि एसपी द्वारा जानकारी मिली है कि इसमें कुछ उपलब्धियां मिली है और जल्द ही जल्द इस मामले की खुलासा हो जाएगी. उन्होंने यह भी कहा कि मुलाकातियों का निदान सुनने से होगा हमारे तरफ से जो निदान होना है होगा हमारी नौकरी इसके लिए ही है. क्राइम मीटिंग में एसपी अभिनव कुमार ,एसडीपीओ जितेंद्र पांडे, नगर इस्पेक्टर जय प्रकाश पंडित, मुफस्सिल थानाध्यक्ष ददन सिंह, सराय ओपी प्रभारी तनवीर आलम ,महादेवा ओपी प्रभारी शशि भूषण मिश्रा, हसनपुरा थानाध्यक्ष अभिषेक कुमार, हुसैनगंज थानाध्यक्ष पंकज ठाकुर जामो थानाध्यक्ष सूरज प्रसाद, पचरुखी थानाध्यक्ष रितेश मंडल,जीरादेई थानाध्यक्ष प्रवीण प्रभाकर सहित जिले के सभी थानाध्यक्ष शामिल थे .

डीआईजी के मीटिंग के दौरान मुलाकाती ने किया हंगामा

एक तरफ डीआईजी मनु महाराज जिले के सभी थानाध्यक्षों के साथ क्राइम को कंट्रोल और लॉ एन ऑर्डर पर मीटिंग कर रहे थे. उसी बीच एक मुलाकाती थानाध्यक्ष व सीओ के खिलाफ हंगामा करना शुरू कर दिया.उसका कहना था कि जब तक मैं डीआईजी से नहीं मिल लेता, मैं शांत नहीं रहूंगा. उसने बताया कि बड़हरिया थाना क्षेत्र के पलटूहाता गांव में मेरा सात कट्ठा एक धुर जमीन है. मेरे पड़ोसियों द्वारा जमीन पर कब्जा किया जा रहा है. इस जमीन का विवाद कोर्ट में भी चल रहा था लेकिन कोर्ट द्वारा मुझे डिग्री दे दी गई. जिसके बावजूद भी थानाध्यक्ष व स्थानीय सीओ के मिलीभगत के कारण आरोपी जान से मारने की धमकी दे रहे हैं और मेरा इंदिरा आवास उस जमीन पर नहीं बनने दे रहे हैं. इसके बाद गार्ड ,ने डीआईजी मनु महाराज से मुलाकात करवाई. डीआईजी के आश्वासन पर मुलाकाती वापस लौट गया.मुलाकाती की पहचान बड़हरिया थाना क्षेत्र के पलतुहाता गांव निवासी दीप नारायण सिंह व उसकी पुत्री दीपिका के रूप में की गई.

डीआईजी से मिला दवा व्यवसाई संघ

मंगलवार की देर संध्या हुई सद्भावना मेडिकल पर गोलीबारी मामले में दवा व्यवसाई संघ सचिव राजकुमार अपने सदस्यों के साथ डीआईजी से मिलने पहुंचे.जहां उन्होंने गोलीबारी मामले में डीआईजी को एक आवेदन दिया. संघ के सचिव ने कहा कि पुलिस अपने स्तर से इस मामले में जांच कर रही है. लेकिन डीआईजी जिले में पहुंचे हैं जिससे करण हम डीआईजी से मिलने के लिए पहुंचे ताकि उन्हें भी इस मामले की जानकारी हो सके.

डीआईजी ने किया नगर थाना का निरीक्षण

सारण रेंज के डीआईजी मनु महाराज ने एसपी कार्यालय में क्राइम मीटिंग के बाद नगर थाना का निरीक्षण किया. जहां उन्होंने थाने में कम पदाधिकारी को देखते हुए नाराजगी जताई और मौजूद पदाधिकारियों को फटकार लगाया. जिसके बाद डीआईजी अन्य थानों के निरीक्षण के लिए निकल गये.