3 महीना पहले ही श्रीनगर गया था बांका का अरविंद, हत्या के बाद परिजनों में मचा कोहराम, गांव में लोगों की भीड़

0

बांका: आतंकियों ने शनिवार को जम्मू कश्मीर में श्रीनगर के ईदगाह इलाके में बिहार के एक कामगार की गोली मारकर हत्‍या कर दी. आतंकवादियों की गोली का शिकार हुआ अरविंद कुमार साह (35 वर्ष) बिहार के बांका जिले के बाराहाट थानाक्षेत्र के परघड़ी गांव के देवेंद्र साह का पुत्र था. शनिवार की देर शाम जह यह सूचना परिजनों को मिली तो घर से लेकर गांव तक कोहराम मच गया. देखते ही देखते खबर आग की तरह पूरे क्षेत्र में फैल गई और पीड़ित परिवार के घर लोगों का हुजूम उमड़ पड़ा. इस बीच बाराहाट थानाध्यक्ष शंकर दयाल प्रभाकर और बीडीओ राजेश कुमार भी मौके पर पहुंचे.

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2022-08-26 at 7.27.12 PM
WhatsApp Image 2022-08-26 at 8.35.34 PM
WhatsApp Image 2022-09-15 at 8.17.37 PM

जानकारी के अनुसार, अरविंद 15 वर्षों से कश्मीर में रह कर रेहड़ी लगाकर गोलगप्पा बेचता था. इसी से उसका घर चलता था. वह पांच भाइयों में चौथे नंबर पर था. सबसे छोटे भाई मुकेश कुमार ने बताया कि उनके एक भाई की कोरानाकाल में बीमारी की वजह से मौत हो गई थी. अभी उसके निधन के दर्द से परिवार उबरा भी नहीं था कि अब एक और भाई काल के गाल में समा गया, जिससे परिजनों पर दुखों का पहाड़ टूट पड़ा है.

परिजनों ने बताया कि कोरोनाकाल में लॉकडाउन की वजह से अरविंद कुमार भी घर आ गया था. तीन माह पहले ही वह दोबारा रोजी-रोटी की तलाश में जम्मू कश्मीर गया था जहां उसके साथ यह घटना हो गई. मृतक अरविंद के अन्य भाई डब्लू कुमार और मंटू कुमार भी जम्मू कश्मीर में ही रहते थे, लेकिन हाल के दिनों में डब्लू कुमार अपने गांव आ गया था. मंटू कुमार अभी भी वहीं पर है.

गांव के 200 से अधिक लोग जम्मी कश्मीर में करते काम

बताया जाता है कि परघड़ी गांव के 200 से अधिक कामगार जम्मू कश्मीर में रहकर जीविकोपार्जन कर रहे हैं. कोई रेहड़ी लगता है तो कोई फेरी कर कमाता है. कई लोग होटल में काम करते हैं. पिछले 15 वर्षों से भी अधिक समय से इस गांव के लोग वहां रह रहे हैं. ग्रामीणों की मानें तो इस गांव के लोग दशकों से जम्मू कश्मीर में रहते आ रहे हैं. लोगों ने कहा कि आतंकवादियों के डर के आगे हम झुकने वाले नहीं हैं. सरकार उन्हें सबक सिखाए.

पार्थिव शरीर को लाया जाएगा गांव

इधर, घटना की जानकारी मिलते ही बीडीओ राकेश कुमार और थानाध्यक्ष एसडी प्रभाकर पहुंचे और परिजनों से मिलकर उन्हें सांत्वना दी. उन्हें हर संभव मदद का भरोसा दिलाया. उन्होंने बताया कि डीएम के निर्देश पर वह यहां पहुंचे हैं और हर संभव उनकी मदद की जाएगी. उन्होंने अरविंद कुमार के पार्थिव शरीर को उन तक पहुंचाने का भरोसा दिलाया. उन्होंने बताया डीएम एवं राज्य की सरकार जम्मू कश्मीर के आलाधिकारियों से संपर्क में है.

मृतक के परिजनों को मिलेगा मुआवजा

बांका के विधायक सह पूर्व मंत्री रामनारायण मंडल ने युवक की हत्या होने पर दुख व्यक्त किया है. बताया कि युवक की हत्या पर मृतक के परिजनों को जम्मू कश्मीर के राज्यपाल ने 11.25 लाख रुपये मुआवजा देने की घोषणा की है. इसके साथ ही बिहार सरकार ने भी तत्काल दो लाख रुपये सहायता के तौर पर देने की घोषणा की है.