बड़हरिया: अधर में लटकता जा रहा विद्यालय में रखरखाव का मामला

0
school

परवेज अख्तर/सिवान: जिले के बड़हरिया प्रखंड में विद्यालय रखरखाव के मद का पैसा अब तक 79 विद्यालयों ने नहीं निकाला है। जिससे विद्यालय के रखरखाव का मामला अधर में लटकता नजर आ रहा है। मालूम हो कि विद्यालय के रखरखाव के मद में राज्य सरकार ने एक निश्चित राशि,, का प्रावधान किया है।उसमें विद्यालय शिक्षा समिति के प्रस्ताव के अनुसार विद्यालयों के रखरखाव, रंग पुताई का कार्य पूर्ण कराना है, जिससे कि विद्यालयों में एक पढ़ाई का माहौल बन सके। लेकिन अब तक कुछ प्रधानाध्यापकों के उदासीनता के कारण विद्यालय चयन समिति के उदासीन रवैया से 79 विद्यालयों में इस राशि का निकासी अब तक नहीं हुआ है।

विज्ञापन
WhatsApp Image 2023-01-25 at 10.13.33 PM
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2022-08-26 at 8.35.34 PM
WhatsApp Image 2022-09-15 at 8.17.37 PM

जिससे कुछ विद्यालयों के रखरखाव का मामला अधर में लटका है। जानकारी के अनुसार बड़हरिया में प्राथमिक विद्यालय, मध्य विद्यालय,उच्च विद्यालय की संख्यालगभग 180 है। इसमें प्राथमिक विद्यालयों के रखरखाव के लिए 25 हजारमध्य विद्यालय को रखरखाव के लिए 50 हजार तथा उच्च विद्यालय में रख रखाव के लिए 75,हजार की राशि निश्चित की गई है। जिससे कि विद्यालयों के रखरखाव और रंग रंगाई का काम किया जा सके। लेकिन इस राशि की निकासी अब तक नहीं होने से ।दो दिनों बाद यह राशि नहीं निकल पाएगी। जिससे विद्यालयों के मरम्मत और रखरखाव का काम अटक जाएगा । इस संबंध में प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी शिव शंकर झा ने बताया कि सभी विद्यालयों के प्रधानाध्यापकों और विद्यालय शिक्षा समिति को निर्देश दिया गया था। कि 15।दिसंबर से पहले अपनी राशि की निकासी कर लें,, और विद्यालय के रखरखाव रंग रंगाई का काम पूरा कर ले।

लेकिन इस आदेश को उक्त विद्यालयों में अब तक इस राशि का उठाव नहीं किया है ।जो खेद का विषय है। अगर 2 दिनों के अंदर इस राशि का उठाव नहीं होता है तो संबंधित प्रधानाध्यापक और शिक्षा समिति के सदस्यों और अध्यक्ष और सचिव पर कार्रवाई निश्चित है।ज्ञात हो कि विद्यालय के रखरखाव और, मरम्मत कराने के लिए विद्यालय शिक्षा समिति के बैठक में प्रस्ताव पास करके उस राशि की निकासी करनी थी। लेकिन अब तक इसमें कुछ प्रधानाध्यापक और विद्यालय के समिति उदासीन रवैया से अधर में हैं। जिससे मामला लटकता हुआ नजर आ रहा है। प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी शिव शंकर झा ने बताया कि अगर निश्चित समय तक राशि की निकासी नहीं होती है तो। संबंधित विद्यालयों पर कारण बताओ नोटिस जारी किया जाएगा और इस मामले में कार्रवाई किया जाएगा। ।