बिहार: बच्चों के खाते में 900 करोड़ तो अब इस बुजुर्ग के अकाउंट में आए 52 करोड़

0

मुजफ्फरपुर: छठी क्लास के दो बच्चों के खाते में 900 करोड़ से अधिक की रकम आने के मामले की कटिहार डीएम अभी जांच करवा ही रहे हैं कि, मुजफ्फरपुर में भी ऐसा ही एक मामला सामने आया है. यहां बच्चों के खाते में नहीं बल्कि एक बुजुर्ग के खाते में 52 करोड़ रुपये की रकम आ गई. बताया जा रहा है कि जब सीएसपी संचालक को यह बात पता लगी तो इतनी बड़ी रकम की बात जानकर वह एक पल को कुछ बोल पाने की स्थिति में ही नहीं रहा. कुछ देर बाद जब उसने बुजुर्ग शख्स को यह बात बताई तो वह भी हैरान रह गए. गांववालों को भी जब यह बात पता चली तो एकाएक सीएसपी संचालक के यहां भारी भीड़ जुट गई और अफरा-तफरी की स्थिति हो गई. जिस शख्स के खाते में रुपये आए थे लोग उसे एक नजर देखना चाहते थे.

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2022-08-26 at 8.35.34 PM
WhatsApp Image 2022-09-15 at 8.17.37 PM
WhatsApp Image 2022-09-27 at 9.29.39 PM

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार मामला मुजफ्फरपुर जिले कटरा थाना क्षेत्र का है. राम बहादुर शाह अपना वृद्धा पेंशन की राशि चेक करवाने के लिए एक निजी सीएसपी संचालक के पास गए थे. सीएसपी संचालक ने जब यह बताया कि उसके बचत खाते में 52 करोड़ रुपए आए हैं. इसको सुनकर वे हैरान हो गए. गुरुवार की रात बुजुर्ग राम बहादुर शाह के खाते में 52 करोड़ रुपये आने के बाद पूरे क्षेत्र में अफरा-तफरा की स्थिति उत्पन्न हो गई.

मिली जानकारी के मुताबिक बहादुर शाह ने अपना वृद्धा पेंशन के लिए अकाउंट खुलवाया था. राम बहादुर शाह ने बताया हम वृद्धा पेंशन को लेकर एक नजदीकी सीएसपी संचालक के पास गए थे. जहां सीएसपी संचालक ने बताया कि आप के खाते में 52 करोड़ से अधिक राशि खाता में आ चुका है. इसको सुनकर हम हैरान हो गए कि आखिर इतनी बड़ी राशि कहां से आई.

बता दें कि बिहार के ग्रामीण क्षेत्र में रहने वाले लोगों के बैंक खाते में पैसा आने का सिलसिला जारी है. इस मामले में कटरा थाने के सब इंस्पेक्टर मनोज पांडे का कहना है स्थानीय लोग और मीडिया के माध्यम से हमें जानकारी मिली है. सिंगारी में एक बुजुर्ग के खाते में 52 करोड़ से अधिक राशि आयी है. हम लोगों को जो सीनियर ऑफिसर आदेश देंगे हम वहीं करेंगे. पुलिस पदाधिकारी पूरे मामले की छानबीन करेगें और संबंधित जिस बैंक में उनका खाता है वहां के पदाधिकारी से भी पूछताछ करेंगे.