बड़हरिया गोलीकांड के विरोध में व्यवसायियों ने दुकानें बंद कर जताया विरोध

0
  • बड़हरिया के थाना चौक पर बीच सड़क बैठ व्यवसायियों ने किया प्रदर्शन
  • बदमाशों की गिरफ्तारी व सुरक्षा की सबने की मांग, प्रशासन के हस्तक्षेप व आश्वासन बाद हटा जाम

परवेज अख्तर/सिवान: जिले के बड़हरिया प्रखंड मुख्यालय में शुक्रवार की शाम दो बाइक पर सवार चार बदमाशों ने कपड़ा व्यवसायी माेहन प्रसाद गुप्ता को रंगदारी नहीं देने पर गोली मारकर गंभीर रूप से घायल कर दिया। घायल व्यवसायी का गोरखपुर में इलाज चल रहा है। इधर घटना के विरोध में व्यवसायियों ने शनिवार को अपनी-अपनी दुकानें बंद कर बड़हरिया के थाना चौक स्थित सड़क पर बैठ प्रदर्शन किया। इस कारण बाजार की सभी सड़क पर जाम लग गया। धरना के दौरान व्यवसायी बदमाशों की गिरफ्तारी एवं व्यवसायियों की सुरक्षा की मांग कर रहे थे। प्रदर्शन की सूचना के बाद सीओ अनिल कुमार श्रीवास्तव एवं थानाध्यक्ष पंकज कुमार दलबल के साथ धरना स्थल पर पहुंचे और व्यवसायियों के साथ बैठक कर बदमाशों की गिरफ्तारी एवं व्यवसायियों की सुरक्षा का आश्वासन देकर धरना समाप्त कराया। इसके बाद जाम समाप्त हुआ तथा आवागमन बहाल हुआ। प्रदर्शन कर रहे व्यवसायियों का कहना था कि बदमाशों के कारण बड़े-बड़े व्यवसायी दूसरी जगह पलायन का विचार कर रह हैं। आए दिन बदमाशों द्वारा व्यवसायियों को निशाना बना कर रंगदारी की मांग कर रहे हैं तथा रंगदारी नहीं देने पर उन्हें गोली मार दे रहे हैं इससे व्यवसायी दहशत में हैं।

विज्ञापन
WhatsApp Image 2023-01-25 at 10.13.33 PM
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2022-08-26 at 8.35.34 PM
WhatsApp Image 2022-09-15 at 8.17.37 PM

WhatsApp Image 2022 11 05 at 7.54.52 PM

घटना के दूसरे दिन व्यवसायियों में दिखा खौफ :

WhatsApp Image 2022 11 05 at 7.54.53 PM 1

कपड़ा व्यवसायी माेहन प्रसाद गुप्ता से 18 अक्टूबर को 10 लाख रुपये की रंगदारी मांगी गई थी। रंगदारी नहीं दिए जाने के बाद बदमाशों ने शुक्रवार को उन्हें गोली मारकर घायल कर दिया। इस घटना के बाद बड़हरिया में अब व्यवसायी अपने आप को असुरक्षित महसूस करने लगे हैं। कई व्यवसायी तो गुपचुप तरीके से दूसरे जिले व राज्य में पलायन का विचार भी कर रहे हैं। ज्ञात हो कि 16 अक्टूबर को बड़हरिया के खानपुर निवासी मार्बल दुकानदार धर्मनाथ सिंह से बदमाशों ने 25 लाख रुपये रंगदारी मांगी थी। इसमें दुकानदार बाल-बाल बच गए थे। इस घटना में दो बदमाश पकड़े भी गए थे, लेकिन अभी भी मुख्य आरोपित पुलिस पकड़ से दूर है। वहीं दूसरी घटना 18 अक्टूबर को बदमाशों ने कपड़ा व्यवसायी मननपुरा निवासी मोहन प्रसाद गुप्ता से 10 लाख रुपये की रंगदारी मांगी थी। रंगदारी नहीं देने पर बदमाशों ने उनकी दुकान पर फायरिंग भी की थी। इस मामले में व्यवसायी द्वारा प्राथमिकी भी कराई गई थी। 15-20 दिन तक बीतने के बाद भी आज तक पुलिस प्रशासन द्वारा असली अभियुक्त को गिरफ्तार नहीं किया जा सका। इस क्रम में बदमाशों ने शुक्रवार की शाम पुन: कपड़ा व्यवसायी को गोली मारकर घायल कर दिया।