कचरे की दुर्गंध में नाक दबा स्कूल जाने को मजबूर बच्चे

0

परवेज अख्तर/सीवान:- शहर के हरदियां मोड़ से महाराजगंज की तरफ जाने वाली सड़क पर कचरों का अंबार लगा हुआ है। कचरों से निकल रही दुर्गंध वहां से गुजरने वाले हर यात्रियों को थोड़ी देर तक ही सही पर सांस थाम लेने पर मजबूर कर रही है। बावजूद इसके डॉन बास्को हाईस्कूल में पढ़ने वाले शहर के हजारों छात्र-छात्राएं दुर्गंध को प्रतिदिन बर्दास्त कर स्कूल जाने को मजबूर हैं। दुर्गंध से बचने के लिए छात्र-छात्राएं नाक दबाकर वहां से गुजरते हैं। अब तो कई छात्र इस दुर्गंध से बचने के लिए स्कूल जाने के रास्ते तक बदलने लगे हैं। इसे नगर परिषद् के सफाई कर्मचारियों की लापरवाही कहें या जिम्मेदार अधिकारियों की संवेदनहीनता। गली-मोहल्लों से निकले कचरे को शहर के मुख्य द्वार पर रख दिया गया है। फलस्वरुप शहर में आने-जाने वालों को काफी परेशानी हो रही है। हरदियां मोड़ स्थित एचपी पेट्रोल पंप के पास से करीब पांच सौ मीटर तक सड़क के किनारे कचरे पड़े हुए हैं। बारिश होने के कारण कचरों से निकलने वाला दुर्गंध घातक रूप ले चुका है। इससे बीमारियों के फैलने की संभावना है। जबकि कई छोटे-छोटे बच्चे भी प्रतिदिन यहां से गुजरते हैं। इस बावत डॉनबास्को हाई स्कूल द्वारा कई बार नगर परिषद् में शिकायत की गई है। लेकिन, कोई असर नहीं हुआ। स्कूल के प्रिंसिपल रेंजूआर चंद्रन ने बताया कि सड़क के किनारे खुले में कचरा फेंकना गलत है। इससे स्कूल आने-जाने वाले बच्चों को भी काफी दिक्कत होती है। शिकायत करने के बाद भी लगतार कचरे गिराए जा रहे हैं।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
dr faisal