मैरवा में जय मां दुर्गे अल्ट्रासाउंड को सीएस ने किया सील, संचालकों में हड़कंप

0

परवेज अख्तर/सिवान: मैरवा में एक दर्जन से अधिक चल रहे अवैध अल्ट्रासाउंड पर स्वास्थ्य विभाग ने शिकंजा कसना शुरू कर दिया है. सीएस और रेफरल अस्पताल के प्रभारी डॉ उषा सिंह ने संयुक्त रूप से कार्रवाई कर मैरवा नगर के प्राणगढ़ी के समीप स्थित जय मां दुर्गे अल्ट्रासाउंड में छापेमारी किया. सेंटर पर अनियमितता मिलने पर उसको सील कर दिया गया. इस दौरान अवैध रूप से चला रहे अल्ट्रासाउंड संचालकों में हड़कंप मच गया. संचालकों ने आनन-फानन में अवैध अल्ट्रसाउंड तथा जांच घर बंद करके फरार हो गये.

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
dr faisal

स्वास्थ्य विभाग की इस बड़ी कार्रवाई के बाद अवैध अल्ट्रसाउंड संचालकों में दहशत बना हुआ है. इस संबंध में रेफरल अस्पताल प्रभारी उषा सिंह ने बताया कि जिला से टीम आयी थी. एक अवैध अल्ट्रसाउंड में छापेमारी हुई थी. जिसकी जांच चल रही है. उन्होंने यह भी बताया कि बताया कि मैरवा में पांच केंद्र निबंधित है. इसके अलावा अन्य फर्जी है. स्वास्थ्य विभाग अभियान चलाकर छापेमारी करेगी.

एक दर्जन से अधिक चलता है अवैध अल्ट्रसाउंड, भनक लगने पर बंद कर फरार हो जाते है संचालक

बिहार यूपी की सीमा पर स्थित मैरवा में अवैध रूप से केंद्र संचालन का बड़ा केन्द्र बन गया है. स्वास्थ्य विभाग से पांच केंद्र निबंधित है. सूत्रों के अनुसार एक दर्जन से अधिक सेंटर बिना लाईसेंस के चल रहे है. मझौली रोड़, धाम रोड़ समेत कई मुहल्ले में ऐसे सेंटर का संचालन खुलेआम हो रहा है.  विभागीय मिलिभगत से चलने वाले सेंटर खुलेआम पीएनडीटी एक्ट का उल्लखंन कर रहे है.  सीमावर्ती क्षेत्र होने के कारण यूपी से बड़ी संख्या में मरीज आते है. यूपी में पीनएनडीटी एक्ट को लेकर सख्ती का फायदा अवैध रूप से सेंटर चलाने वाले संचालक उठा रहे है. ऐसे सेंटर चलाने वाले संचालक खुलेआम अलट्रासाउंड सेंटर का बोर्ड लगा रखे है. संचालक विभाग से बचने के लिए सादा पेपर पर रिर्पोट दे रहे है. स्वास्थ्य विभाग के टीम के आने की सूचना मिलने पर सेंटर संचालक काम बंद कर देते है. जिससे विभागीय कर्मचारियों के मिलिभगत की संभावना से इंकार नहीं किया जा सकता है.