दरौंदा: ढेबर शिव मंदिर के पुजारी की हत्या, शव को मंदिर के समीप गड्ढे में फेंका

0
Dead Body
  • शव देखने से ऐसा लग रहा था कि छोटेलाल राम की हत्या कर शव को गड्ढे में फेंक दिया गया है
  • शव को बाहर निकाला तो देखा कि पुजारी का है
  • मंदिर से करीब 200 मीटर पूरब गड्ढे में शव देखा
  • 12 अक्टूबर की रात गांव के ही युवकों ने की थी मारपीट
  • 04 दिन के अंदर पुजारी की हत्या करने की दी थी धमकी

परवेज अख्तर/सिवान: जिले के दरौंदा थाना क्षेत्र के ढेबर गांव स्थित शिव मंदिर के पुजारी का शव शुक्रवार को मंदिर के समीप गड्ढे में मिला। मृतक ढेबर निवासी सकल राम का पुत्र छोटेलाल राम (25वर्ष)था। स्थानीय लोगों ने बताया कि छोटेलाल राम पिछले करीब तीन वर्ष से मंदिर में पुजारी का काम करते थे। मंदिर में भगवान की पूजा-अर्चना करना ही उनकी दिनचर्या थी। मंदिर में ही दिन-रात रहते थे। 12 अक्टूबर की रात गांव के ही युवक उनके साथ मारपीट किए थे। जिस दौरान उनके सिर में गम्भीर चोट आई थी। अगले दिन 13 अक्टूबर से पुजारी मंदिर से गायब हो गए। स्थानीय लोगों ने काफी ढूंढा। लेकिन उनका कोई सुराग नहीं मिला। शुक्रवार की शाम स्थानीय लोगों ने शिव मंदिर से करीब 200 मीटर पूरब गड्ढे में शव देखा। देखते ही देखते वहां ग्रामीणों की काफी भीड़ इकट्ठी हो गई। ग्रामीणों ने शव को बाहर निकाला तो देखा कि यह पुजारी छोटेलाल राम का शव है। शव देखने से ऐसा लग रहा था कि छोटेलाल राम की हत्या कर शव को गड्ढे में फेंक दिया गया है। ग्रामीणों ने पुलिस को इसकी सूचना दी। थानाध्यक्ष अजीत कुमार सिंह, एसआई अमित कुमार सिंह ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। पुलिस ने पुजारी के संबंध में स्थानीय लोगों से पूछताछ भी की।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2023-10-11 at 9.50.09 PM
WhatsApp Image 2023-10-30 at 10.35.50 AM
WhatsApp Image 2023-10-30 at 10.35.51 AM
ahmadali
WhatsApp Image 2023-11-01 at 2.54.48 PM

पुजारी की मां ने दर्ज कराई एफआईआर

ढेबर गांव स्थित शिव मन्दिर के पुजारी छोटेलाल राम की हत्या के मामले में उनकी मां सिमरीखी देवी ने एफआईआर दर्ज कराई है। एफआईआर में कहा है कि 12 अक्टूबर को गांव के ही हरिशंकर राम के पुत्र अमन कुमार राम, सुरेंद्र राम के पुत्र आशीष कुमार राम, मुन्ना कुमार राम के पुत्र विनीत कुमार राम व सनकेश कुमार राम के पुत्र अभिषेक कुमार राम ने उनके पुत्र के साथ मारपीट की थी। ग्रामीणों ने उसे बचाया। इस दौरान चारों ने चार दिन के अंदर हत्या कर देने की धमकी भी दी। 13 अक्टूबर से मेरा पुत्र गायब था। शुक्रवार को उसका शव मिला। इन चारों ने ही हत्या कर साक्ष्य छिपाने के उद्देश्य से शव को गड्ढे में छुपा दिया था।