दरौंदा: महंगाई के खिलाफ कांग्रेस नेताओं ने निकाला अर्थी यात्रा

0

परवेज अख्तर/सिवान: जिले के दरौंदा प्रखंड मुख्यालय के स्थानीय बाजार पर शनिवार को कांग्रेस नेताओं एवं कार्यकर्ताओ ने महंगाई के खिलाफ अर्थी यात्रा सह प्रतिरोध मार्च निकाला. प्रतिरोध मार्च को संबोधित करते हुए कांग्रेस प्रखंड अध्यक्ष शशिभूषण तिवारी ने कहा कि मोदी जी कहते थे कि यूपीए की सरकार में महंगाई, भ्रष्टाचार चरम सीमा पर है. सरकारी नौकरी के लिए कोई फॉर्म नहीं निकल रहा है. हमारी सरकार बनेगी तो हर वर्ष दो लाख युवाओं को नौकरी मिलेगी. किसानों को बिचौलियों से मुक्त किया जाएगा. डीजल पेट्रोल की कीमत कम रहेगी. लेकिन यह सरकार सारी हदें पार कर दी है. देश की जनता ने मोदी की सरकार तो बना दिया, लेकिन आज जनता कह रही है कि मोदी जी 200 रुपया सरसों तेल, पेट्रोल 103, डीजल 100, गैस 1000 रुपया हो गया है. अब आप महंगाई कम कीजिए तो मोदी जी केवल मन की बात कर रहे है.

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
dr faisal

मोदी सरकार की निजीकरण और पूंजीपति परस्त नीतियों के कारण महंगाई आसमान छू रही है. मोदी सरकार अंबानी-अडानी के मुनाफे के लिए जनता को निचोड़ने में लगी है. पिछले डेढ़ वर्षों से महामारी के कारण लोग पहले ही बेहाल हैं. उनके पास रोजगार नहीं है, लेकिन सरकार महंगाई पर अंकुश लगाने की कोशिश करने के बजाय आम जनता के जेब पर डाका डालने का काम कर रही है. मोदी सरकार रसोई गैस की हर कुछ दिनों पर कीमत बढ़ा रही है. पेट्रोल, डीजल, रसोई गैस व खाद्य तेलों की कीमतों में भारी वृद्धि होने से गरीबों, महिलाओं, मध्यम वर्ग के उपर भारी बोझ पड़ा है. डीजल, पेट्रोल के दामों में बढ़ोत्तरी होने से किराये और माल ढुलाई में काफी बढोतरी हुई हैं. यदि केंद्र सरकार मंहगाई को नहीं रोकती है तो उसे जनता का गुस्सा झेलने को तैयार रहना होगा.

पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों पर रोक लगाकर उसपर लगाये जाने वाले टैक्स को कम कर जनता को राहत दी जाय. सरसों और अन्य खाद्य तेलों की कीमतों में की जा रही कृत्रिम बढ़ोत्तरी को रोकने के लिए जमाखोरों और कालाबाजारी करने वालों के खिलाफ कठोर कार्यवाही की जाय. गरीबों के राशन में सिर्फ चावल और गेहूं दे रही है. लेकिन तेल मसाला दाल प्याज खाद बीज के दामों में वृद्धि करके दूसरे तरफ से ले रही है. इस प्रतिरोध मार्च में बच्चा तिवारी, आनंद तिवारी, बुधन पांडे, गौतम मिश्रा, जंग बहादुर राम, झूला राम, गोरखनाथ यादव, इमाम हुसैन, मोहम्मद हुसैन, प्रहलाद राम, लालजी महतो, डॉ केदार नाथ शर्मा, दीपक राम, सरोज कुमार गोस्वामी, जय नाथ यादव, योगेंद्र यादव, अमित तिवारी के अलावे सैकड़ों कांग्रेस कार्यकर्ता मौजूद रहे.