दरौंदा: सूझबूझ से बर्निंग ट्रेन बनने से बची वैशाली एक्सप्रेस

0

परवेज अख्तर/सिवान: छपरा-सीवान रेलखंड पर शनिवार की दोपहर को एक बड़ा हादसा होते-होते टल गया। बताया जाता है कि दरौंदा व चैनवा स्टेशन के बीच लीला साह के पोखरा से पूरब वैशाली एक्सप्रेस के पहिए में आग लग गयी। हालांकि चालक दल की सूझबूझ के कारण समय रहते आग पर काबू पा लिया गया और ट्रेन को बर्निंग ट्रेन बनने से बचा लिया गया।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
ADDD

मिली जानकारी के अनुसार इस गाड़ी के एस-04 पहिए के पास से चालक दल को अचानक धुंआ निकलने का आभास हुआ। हालांकि इस बीच चालक दल ने सूझबूझ का परिचय देते हुए ट्रेन को रोक दिया। इसके बाद ट्रेन में मौजूद पैंट्री कार के कई सदस्य व यात्री बोगी की तरफ दौड़ पड़े और आग पर नियंत्रण पाने की कोशिश करने लगे। काफी मशक्क्त के बाद करीब 10 फायर एक्सटिंगशर का प्रयोग कर आग व धुंए पर काबू पा लिया गया। इधर चालक दल ने आग लगने वाले पहिए का बारीकी से निरीक्षण किया और आग लगने का कारण खोजने में जुट गए। वहीं दूसरी तरफ ट्रेन में आग लगने की जानकारी मिलने के बाद यात्रियों में हड़कंप मच गया।

मौके पर पहुंची फायर बिग्रेड का गाड़ियां व पुलिसबल

ट्रेन में आग लगने की खबर आसपास के इलाके में आग की तरफ फैल गयी। इधर आग बुझाने को लेकर फायर बिग्रेड की कई गाड़ियां व स्थानीय पुलिस भी मौके पर पहुंच गयी। गनीमत रहा कि इस हादसे में कोई हताहत नहीं हुआ और समय रहते स्थिति पर नियंत्रण पा लिया गया। बावजूद इसके ट्रेन में सवार यात्रियों में अफरातफरी का माहौल कायम रहा।

40 मिनट तक खड़ी रही वैशाली ट्रेन

आग लगने की घटना के बाद करीब 40 मिनट तक सहरसा से नई दिल्ली को जाने वाली अप 12553 गाड़ी खड़ी रही। चालक दल के निरीक्षण के बाद संतुष्ट होने पर ही इसे आगे के स्टेशन के लिए रवाना किया गया। हालांकि सबकुछ सामान्य होने के बाद भी यात्रियों की सांसे अटकी रही और सभी गंतव्य स्थान पर पहुंचने के लिए ईश्वर से प्रार्थना करते रहे।

आग लगने का स्पष्ट कारणों का पता नहीं

बताया गया कि ट्रेन के पहिए में आग कैसे लगी अबतक इसका स्पष्ट पता नहीं चल सका है। बावजूद इसके पहिए में डिश ब्रेक के चिपके होने के कारण आग लगने की आशंका व्यक्त की जा रही है। रेलवे कर्मियों की माने तो कोई यात्री अपने यात्रा के दौरान ट्रेन रोकने को लेकर चेन पुलिंग किया होगा। जिसके बाद पहिए से चिपका डिश ब्रेक अलग नहीं हो सका होगा। धीरे-धीरे घर्षण से आग लग गया होगा।

दोपहर 02:46 बजे चैनवा स्टेशन पार की थी गाड़ी

बताया जाता है कि अप बैशाली एक्सप्रेस शनिवार को छपरा से खुलने के बाद 02: 46 बजे चैनवा पार की। लीला साह के पोखरा के समीप 02: 50 बजे पहुंची। तभी चालक दल को पहिए में आग लगने का आभास हुआ। जिसके बाद चालक दल ने ट्रेन को रोक दिया। आग पर काबू पाने के बाद करीब दोपहर 03: 30 बजे पुनः अगले स्टेशन के लिए निकल पड़ी और 03: 36 बजे दरौंदा स्टेशन पार की।