दिनदहाड़े युवक को अपराधियों ने मारी गोली, रेफर

0

परवेज़ अख्तर/सिवान:- जिले के महादेवा ओपी के पाल नगर पकड़ी ब्रह्म स्थान समीप शुक्रवार की शाम अपराधियों ने एक व्यक्ति को दिनदहाड़े गोली मारकर गंभीर रूप से घायल कर दिया। घायल को आनन फानन में स्थानीय लोगों ने इलाज के लिए सदर अस्पताल में भर्ती कराया। जहां चिकित्सकों ने उसका प्राथमिक उपचार कर उसे बेहतर इलाज के लिए पटना रेफर कर दिया घायल को अपराधियों ने दो गोली मारी है। सदर अस्पताल के चिकित्सकों ने बताया कि घायल को पेट और सीने में गोली लगी है। घायल व्यक्ति शंकर सोनी बताया जाता है। इधर घटना की सूचना मिलते ही स्थानीय पुलिस सदर अस्पताल पहुंच गई और मामले की जांच में जुट गई। खबर प्रेषण तक घायल को पटना भेजने की तैयारी चल रही थी। बता दें कि घायल पूर्व में कई लूट, छिनतई सहित कई मामलों में नामजद रहा है। अभी छह महीना पूर्व ही वह जेल से जमानत पर छूटकर बाहर आया है। मामला भूमि विवाद से जुड़ा हुआ है। मामले में घायल की पत्नी पूजा सोनी ने बताया कि फतेहपुर के चुआठ गली के सोनू पासी और झुनझुन चौधरी से इसके पति शंकर सोनी का किसी भूमि को लेकर विवाद चल रहा था।

इसको लेकर शंकर सोनी और सोनू पासी में कई बार विवाद भी हुआ था। इसी बीच शुक्रवार की शाम शंकर अपने पकड़ी के ब्रह्म स्थान समीप अपने बथान में बैठा था। तभी बाइक पर सवार दो युवक आए और शंकर को पेट और सीने में गोली मारकर घायल कर दिया। बताते चले कि घायल जमीन की खरीद फरोख्त के धंधे से जुड़ा हुआ था। वहीं घायल की पत्नी पूजा सोनी ने अपने बयान में बताया कि जेल के अंदर ही शंकर सोनी और सोनू पासी व झुनझुन चौधरी के बीच विवाद हुआ था। इसके बाद यह विवाद इतना बढ़ गया कि जेल से जमानत पर जब छूटकर आए तो दोनों ने शंकर को गोली मारकर घायल कर दिया। पुलिस ने घायल की पत्नी के बयान के आधार पर जांच शुरू कर दी है।

तीन दिन पहले हार्ट अटैक से हुई थी घायल के पिता की मौत

बताते चले कि घायल शंकर सोनी के पिता सुभाष सोनी की मौत 9 मई को हार्ट अटैक से हो गई थी। इसी को लेकर शंकर सोनी अपने ब्रह्म स्थान समीप बथान में बैठा था। तभी बाइक सवार दो अपराधियों ने शंकर को गोली मारकर घायल कर दिया। अभी पिता के चिता की आग बुझी भी नहीं थी कि अपराधियों ने शंकर को अपनी गोली का निशाना बनाते हुए घायल कर दिया।

पूर्व में लूट, छिनतई सहित कई मामलों में है नामजद

बता दें कि जिसे गोली मारी गई है वह पूर्व में नगर थाना और जिले के अन्य थानों में कई मामलों में नामजद है। छह महीना पहले ही वह जमानत पर छूट कर आया था। वहीं इसके भाई भोला सोनी की मौत चार से पांच वर्ष पूर्व बाइक लूट के दौरान ग्रामीणों की पिटाई से हो गई थी। बाइक लूट कर भागने के क्रम में ग्रामीणों ने भोला को पकड़ लिया था और उसके बाद उसकी पिटाई जमकर की थी। जिससे उसकी मौत हो गई। जबकि दो अन्य भाई किराना दुकान चलाते हैं।

रेफर होने के बाद गाड़ी को रोकने की रही चर्चा

बात दें कि शंकर सोनी को अपराधियों ने दो गोली मारकर घायल कर दिया था। इसके बाद चिकित्सकों ने उसे तत्काल पटना रेफर कर दिया। इधर पुलिस ने बयान लेने के लिए और कागजी कार्रवाई पूरी करने के लिए घायल को कुछ देर के लिए रोका था जिस पर सदर अस्पताल में घायल के साथ परिजनों ने आपत्ति जताई।

 

 

Loading...