दाहा नदी में डूबे दूसरे युवक का 48 घंटे बाद मिला शव, मचा कोहराम

0
nadi

परवेज़ अख्तर/सिवान:- जिले के मुफस्सिल थाना क्षेत्र के रामपुर विशुनपुर स्थित घाट पर दीपावली को ले पशुओं को धोने गये दो चचेरे भाईयों की मौत डूबने से हो गयी. डूबे युवक के चचेरे भाई का शव घटना के 19 घंटे बाद घटना से दो सौ मीटर आगे मिला था. उसका शव मिलने के बाद परिजनों में कोहराम मच गया था. परिजन युवक की तलाश में नदी को खंगाल रहे थे. करीब 48 घंटे बाद युवक का भी नदी से बरामद किया गया. युवक का शव बरामद होने के बाद गांव में कोहराम मच गया. घटना के बाद परिजनों का रो-रो कर बुरा हाल हो गया था. मालूम हो कि बिशुनपुर निवासी हरेंद्र चौधरी ने बताया कि सभी के यहां दीपावली के दिन सफाई करने की परंपरा है. हमलोग इस दिन पशुओं को भी धोते है. रविवार को हम बोले कि पशुओं को नदी में धोने जा रहे है, तभी मेरा पुत्र आकाश व मेरे भाई कमलेश उर्फ मेहीलाल चौधरी का पुत्र गुड्डू ने कहा कि आप कदम मोड़ से पटाखा ला दीजिये, हमलोग पशुओं को धो कर लाते है. दोनो चचेरे भाई एक गाय व एक भैंस को लेकर नदी घाट पर चले गये. इसी दौरान आकाश पशु की धुलाई कर रहा था कि उसका पैर फिसल जाने के कारण नदी के गहरे पानी में जा गिरा. अपने चचरे भाई के बचने गये कमलेश उर्फ मेहीलाल चौधरी का पुत्र भी गहरे पानी में चला गया. अचानक दोनों नदी में लापता हो गये. घटना के करीब 19 घंटे बाद अगले दिन सोमवार को उसका शव घटनास्थल से दो सौ मीटर की दूरी पर मिला था. किशोर का शव मिलने के बाद परिजनों में कोहराम मच गया था. घटना के बाद परिजनों का रो-रो कर बुरा हाल हो गया था. परिवार के दूसरे युवक का कही पता नहीं चलने पर परिजन चितिंत व परेशान थे. वे अनहोनी की आशंका से सहमे हुये थे. उसकी तलाश जारी थी. परिजनों के दो रात दो दिन गुजारने के बाद मंगलवार की सुबह लगभग आठ बजे एक शव को तैरते हुये देखा. फिर परिजनों ने शव को बाहर निकाला तो शव की पहचान कमलेश यादव के 18 वर्षीय पुत्र गुड्डू के रूप में की गयी. सूचना पर पहुंची मुफस्सिल थाने की पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम हेतु सदर अस्पताल भेज दिया. इधर शव मिलने के बाद परिजनों का रो-रो कर बुरा हाल हो गया.

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
dr faisal