तरवारा: लॉकडाउन के कारण बढ़ा ब्याज तो सुधि महाजन दिनेश तिवारी ने कर दी ऑर्केस्ट्रा संचालक मंटू कुमार राम की तेजाब से नहला कर निर्मम हत्या

0
  • मृतक ऑर्केस्ट्रा संचालक मूल से भी अत्यधिक दे चुका था सुधि महाजन को ब्याज
  • संचालक को घर से बुलाकर ले जाने के बाद अपराधियों ने दिया था घटना को अंजाम
  • मृतक के पिता के तहरीर पर प्राथमिकी दर्ज कर तफ्तीश शुरू कर दी है जी. बी. नगर थाने की पुलिस
  • इंस्पेक्टर श्री प्रमोद कुमार सिंह के नेतृत्व में अपराधियों के गिरफ्तारी के लिए हो रही है छापेमारी

परवेज अख्तर/सिवान :
जिले के जी. बी. नगर थाना क्षेत्र के सीमावर्ती इलाका हरदोबारा बाजार में अवस्थित सरगम आर्केस्ट्रा के संचालक मंटू कुमार राम की अपराधियों द्वारा सोमवार की दोपहर तेजाब से नहला कर निर्मम हत्या कर फेंकी गई शव बरामदगी मामले में पुलिस गहराई पूर्वक अपनी तफ्तीश व घटना में शामिल अपराधियों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी शुरू कर दी है।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
dr faisal

ऑर्केस्ट्रा संचालक मंटू कुमार राम की हुई निर्मम हत्याकांड को लेकर थानाध्यक्ष सह इंस्पेक्टर श्री प्रमोद कुमार सिंह के नेतृत्व में गठित पुलिस टीम गोपनीय रूप से संदिग्ध ठिकानों पर छापेमारी कर रही है। हालांकि इस घटना में शामिल सभी अपराधी पुलिस पकड़ से बाहर हैं। थानाध्यक्ष सह इंस्पेक्टर श्री प्रमोद कुमार सिंह ने बताया कि उक्त घटित घटना को लेकर आर्केस्ट्रा संचालक मंटू कुमार राम के पिता हरिकिशुन राम के द्वारा दिए हुए तहरीर के मुताबिक सुसंगत धाराओं के अंतर्गत एक नामजद प्राथमिकी दर्ज कराई गई है।

दर्ज प्राथमिकी में इसी थाना क्षेत्र के माधोपुर गांव निवासी दिनेश तिवारी समेत तीन अन्य अज्ञात लोगों को आरोपित किया गया है। दर्ज कांड के सूचक सह मृतक के पिता अपने दिए हुए तहरीर में अपने लाडले मंटू की निर्मम हत्या कर दिए जाने के कारण पैसे की लेनदेन से जुड़ा बताया है। उन्होंने अपने तहरीर में स्पष्ट रूप से उल्लेख किया है कि मेरा लाडला मंटू जो माधोपुर गांव निवासी दिनेश तिवारी से आर्केस्ट्रा संचालन वास्ते ब्याज पर पैसे की लेन-देन करता था। जिसका हर महीने ब्याज की रकम सुधि महाजन को समय से देते रहता था।

लॉकडाउन की वजह से आर्केस्ट्रा का साटा भी नहीं हो रहा था। बीते वर्ष कोरोना महामारी को लेकर लगे लॉकडाउन की वजह से सुधि महाजन का ब्याज भी अत्याधिक हो गया था।इसके बाद सुधि महाजन दिनेश तिवारी द्वारा पैसे के लिए हमेशा दबाव बनाया जाने लगा।इसी बीच रुपए के लेनदेन को लेकर एक माह पूर्व दोनों के बीच काफी नोक झोंक भी हुई थी। मंटू का कहना था कि मूलधन के रुपए से अधिक मैंने आपको ब्याज दे दिया है। इस बात को लेकर सुधि महाजन द्वारा बार-बार हत्या की धमकियां दी जा रही थी।

रुपए देने से इनकार करने पर सोमवार को दिनेश तिवारी मेरे घर पहुंचा। जहां उसने मेरे लाडले मंटू को बाइक पर बिठाने के बाद लेकर चला गया। इसके बाद दोपहर में गांव के कुछ युवक शौच करने के लिए चंवर में निकले हुए थे की इसी बीच युवकों ने मेरे लाडला का शव पड़ा देख हंगामा शुरू कर दिया। बाद में ग्रामीणों द्वारा मुझे सूचना मिली कि नथनपुरा गांव दक्षिणी छोर स्थित चंवर में आपके लाडला का शव पड़ा हुआ है। जिसे अपराधियों द्वारा तेजाब सेेे नहला कर निर्मम हत्या कर डाली गई है। घटना की सूचना मिलते ही आनन-फानन में मेरे पूरे परिवार के सभी सदस्य घटनास्थल पर पहुंचे तो देखा कि मेरे लाडला का शव पोखरे के किनारे पड़ा हुआ है। जिस तेजाब से नहला निर्मम तरीके से हत्या कर दी गई है।बाद में सूचना पाकर सैकड़ों ग्रामीण घटनास्थल पर पहुंचे।

मंटू का शव पहुंचते ही नथनपुरा गांव में मचा कोहराम:

……और जैसे ही पोस्टमार्टम के बाद मंटू का शव सोमवार की शाम जी. बी. नगर थाना पुलिस द्वारा सौंपने के बाद उसके पैतृक गांव नथनपुरा पहुंचा तो परिजनों के हृदय विदारक चीत्कार से समूचा गांव में कोहराम मच गया। उसके पिता समेत अन्य स्वजन दहाड़ मार बिलख रहे थे। परिजनों के दहाड़ को देखते हुए उपस्थित लोग भी अपनी अपनी आंखों के जनसैलाब को नहीं रोक पाए।

अभी भी परिजनों की चीख पुकार से गांव में मचा है कोहराम:

तेजाब से नहला कर हुई ऑर्केस्ट्रा संचालक मंटू कुमार राम की निर्मम हत्या कांड के बाद अभी भी परिजनों की चीख पुकार से पूरे गांव में कोहराम मचा हुआ है। मृतक के पूरा परिवार घटित घटना के घंटों बाद ही सदमे से नहीं उबर पा रहे हैं। मंटू के याद में पूरे परिवार के लोग ड़हक-ड़हक बिलख रहे हैं। परिजनों के हृदय बिलाप को देखते हुए ग्रामीण सांत्वना देने में लगे हुए हैं।

क्या कहते हैं थानाध्यक्ष:

मंटू निर्मम हत्या कांड के संदर्भ में थानाध्यक्ष सह इंस्पेक्टर श्री प्रमोद कुमार सिंह ने कहा कि मृतक के पिता के तहरीर पर एक नामजद प्राथमिकी दर्ज कर पारदर्शिता पूर्वक अनुसंधान जारी रखते हुए घटना में शामिल अपराधियों की गिरफ्तारी हर हाल में सुनिश्चित करने के लिए एक पुलिस टीम का गठन कर गोपनीय रूप से संदिग्ध ठिकानों पर छापेमारी जारी है। जल्द से जल्द घटना में शामिल सभी अपराधियों की गिरफ्तारी कर ली जाएगी। उसे किसी भी सूरत पर मेरे द्वारा बख्शा नहीं जाएगा। चाहे वह कितना रसूख रखने वाला इंसान क्यों न हो।