डीपीओ ने मांगा प्रारंभिक शिक्षकों के नियोजन संबंधित सभी मूल अभिलेख

0
perdarsan

विभाग के जारी फरमान से फर्जी नियोजित शिक्षकों में मचा हड़कंप

परवेज़ अख्तर/सीवान:- स्थापना शिक्षा, सीवान के डीपीओ मो असगर अली ने सभी बीईओ को पत्र भेज प्रारंभिक नियोजित शिक्षकों के नियोजन संबंधित सभी मूल अभिलेख उपलब्ध कराने का निर्देश दिया है। एक सप्ताह के अंदर संबंधित अभिलेख नहीं उपलब्ध कराने वाले बीईओ के विरूद्ध विभागीय कार्रवाई करने का भी निर्देश निर्गत किया गया है। फर्जी शैक्षणिक व प्रक्षैणिक प्रमाण पत्र पर जिले सहित पूरे प्रदेश में शिक्षकों की काफी संख्या में नियुक्ति हुई थी। जिसकी जांच निगरानी विभाग के देखरेख में चार वर्षों से चल रही है। जांच के क्रम में कई शिक्षक ऐसे पाए गए थे जिनके सभी प्रमाण-पत्र या तो फर्जी थे या फिर वे दूसरे के प्रमाण-पत्र पर नौकरी कर रहे थे। जिसे ले हाईकोर्ट भी सख्त हो गया। हाईकोर्ट के निर्देश पर निगरानी विभाग ने पूरे प्रदेश में बहाल हुए शिक्षकों के प्रमाण पत्र की जांच शुरू कर दी है। इसके लिए विभाग ने प्रत्येक जिले में तैनात नियोजित शिक्षकों के प्रमाण पत्र की डिमांड की गई है। इस बावत डीपीओ ने पत्र जारी कर नियोजित शिक्षकों के नियोजन वर्ष 2003, 2005, 2006, 2008, 2012 एवं 2015 की मूल आवेदन पंजी की मांग की गई है। वहीं मेधा सूची, काउंसेलिंग पंजी, अंतिम चयनित सूची, रोस्टर पंजी सूची एवं कार्यवाही पंजी सूची की मूल प्रति सत्रवार जमा करने का आदेश दिया गया है । साथ ही पंचायत नियोजन इकाई वार 39 कॉलम पंजी सूची की मूल भी एक सप्ताह के अंदर निगरानी विभाग, शिक्षक नियोजन जांच कोषांग के कार्यालय में जमा करने का निर्देश प्राप्त है। इस जांच वाली फरमान से जिले के फर्जी नियोजित शिक्षकों में हड़कंप मच गया है।