नप में व्यक्तिगत लाभ के लिए पद का दुरुपयोग करते हुए की गई है वित्तीय अनियमितता

0

✍️परवेज अख्तर/एडिटर इन चीफ:
सिवान नगर परिषद किसी ना किसी कार्य के लिए चर्चा में बना रहता है। कभी जमीन खरीद मामले में वित्तीय अनियमितता तो कभी डीजल खरीद में घोटाला या फिर कभी कर्मचारियों का हड़ताल। वहीं नगर परिषद का हाल अब यह हो गया है कि अगर कर्मियों के विरुद्ध कार्रवाई भी की जाती है तो कर्मियों व यूनियन द्वारा कार्य बहिष्कार की चेतावनी भी दी जाती है। ऐसे कई मामले हैं जो आए दिन शहर में चर्चा का विषय बने रहते हैं।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2022-08-14 at 9.16.03 PM
WhatsApp Image 2022-08-14 at 9.24.37 PM
WhatsApp Image 2022-08-14 at 9.13.39 PM
WhatsApp Image 2022-08-14 at 9.18.57 PM

मामला एक : नगर परिषद कार्यालय के स्थापना शाखा प्रभारी द्वारा आयु सीमा पूर्ण होने के बावजूद तीन कर्मियों की सेवानिवृति नहीं कराते हुए उनके वेतन का भुगतान कर दिया गया है। सूत्रों की मानें तो कर्मी कलावती देवी, शिवजतन प्रसाद व कुसुम देवी की सेवानिवृति नहीं कराते हुए करीब तीन-चार साल से उनके वेतन का भुगतान किया गया है। जब इस मामले की जानकारी कार्यपालक पदाधिकारी को हुई तो उन्होंने निवर्तमान स्थापना शाखा प्रभारी अमरजीत कुमार पर शो-काज किया है। बता दें कि कर्मी कलावती देवी की जन्म तिथि एक जनवरी 1954, शिवजतन प्रसाद की जन्म तिथि 01 जनवरी 1955 व कुसुम देवी की जन्म तिथि एक जनवरी 1956 अंकित है।

मामला दो : नगर परिषद के वार्ड संख्या सात में महिला थाना के सामने नाला निर्माण को लेकर योजना के तहत सात लाख 25 हजार 300 रुपये की प्राक्कलन की स्वीकृति प्रदान की गई थी। सूत्रों की मानें तो इस योजना में प्रधान सहायक द्वारा व्यक्तिगत लाभ के लिए 7 लाख 98 हजार रुपये की एमबी बनाई गई। साथ ही साथ इसके लिए चालान संख्या 119 दिनांक 23-11-2021 को छह लाख 92 हजार 991 रुपये का भुगतान भी कर दिया गया है। जो कि नियम संगत नहीं है। बता दें कि किसी भी प्रकार का विभागीय कार्य सात लाख 50 हजार से अधिक राशि की कराने की स्वीकृति किसी भी हाल में नहीं दी जा सकती है। इसकी जानकारी जब कार्यपालक पदाधिकारी को हुई ताे उन्होंने कार्रवाई की है।

क्या कहते हैं जिम्मेदार

निवर्तमान स्थापना प्रभारी अमरजीत कुमार व प्रधान सहायक द्वारा वित्तीय अनियमितता करने का मामला उजागर हुआ है। इस पर कार्रवाई करते हुए दोनों कर्मचारियों से स्पष्टीकरण की मांग की गई है। साथ ही कुछ कर्मचारियों के कार्य विभाग में परिवर्तन भी किया गया है।

राहुल धर दुबे,कार्यपालक पदाधिकारी, सिवान