शहाबुद्दीन से जुड़े पांच मामलों की हुई सुनवाई

0
shahabudin and police

परवेज अख्तर/सिवान : भाजपा नेता योगेंद्र पांडेय की हत्या से जुड़े मामले में शुक्रवार को विशेष अदालत में योगेंद्र पांडेय के बड़े भाई राधेश्याम पांडेय ने अपनी गवाही दर्ज कराई। मो. शहाबुद्दीन के मामलों की सुनवाई कर रही मंडल कारा में गठित विशेष अदालत में मो. शहाबुद्दीन से जुड़े कुल पांच मामलों की सुनवाई की गई। विशेष अदालत के विशेष सत्र न्यायाधीश वीके शुक्ला की अदालत में शुक्रवार को योगेंद्र पांडेय हत्याकांड मामले में गवाही के लिए निश्चित तिथि के अनुसार योगेंद्र पांडेय के भाई राधेश्याम पांडेय नियत समय पर अदालत में मौजूद हुए। बचाव पक्ष की ओर से अधिवक्ता अभय कुमार राजन गवाह राधेश्याम पांडेय से जिरह किया। समय अभाव के चलते जिरह पूरा नहीं हो सका तथा अदालत ने शेष जीरह के लिए दूसरी तिथि निर्धारित कर दिया। राधेश्याम पांडेय की पूर्व में गवाही हो चुकी थी।इस गवाही के लिए अदालत ने शुक्रवार की तिथि निर्धारित किया था। गवाही के दौरान मो. शहाबुद्दीन भी मंडल कारा में उपस्थित थे। अभियोजन पक्ष की ओर से विशेष लोक अभियोजक जय प्रकाश सिंह की उपस्थिति में गवाह का जिरह हुआ। इसी अदालत में मुन्ना चौधरी अपहरण कांड मामले में आंशिक सुनवाई की गई। उधर विशेष न्यायिक दंडाधिकारी विजय कुमार मिश्र की अदालत में तीन मामले सुनवाई के लिए निश्चित थे। अदालत ने जेल के अंदर मोबाइल की बरामदगी से जुड़े मामले में कांड के अनुसंधानकर्ता तत्कालीन मुफस्सिल थाना अध्यक्ष रामकुमार सिंह का वेतन रोकने का आदेश पारित किया था, जिसकी पुष्टि अभियोजन पक्ष की ओर से की गई। अदालत ने इस मामले में उचित दिशा निर्देश पारित करते हुए दो अन्य मामलों के गवाहों पर वारंट निर्गत कर दिया। अदालत में अभियोजन की ओर से विशेष लोक अभियोजक के अलावा सहायक लोक अभियोजक रघुवर सिंह, रामराज प्रसाद तथा बचाव पक्ष की ओर से अधिवक्ता मो. मोबीन उपस्थित थे।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
dr faisal