हसनपुरा के कुख्यात अपराधी चंदन सिंह के गिरफ्तारी के लिए एसडीपीओ फिरोज आलम के नेतृत्व में डेढ़ सौ पुलिसकर्मियों ने उसके घर पर बोला धावा

0
  • हसनपुरा के डीबी गांव का रहने वाला है कुख्यात अपराधी चंदन सिंह
  • सिवान के तत्कालीन एसपी विकास वर्मन के कार्यकाल में उसकी हुई थी गिरफ्तारी
  • वर्तमान एसपी श्री शैलेश कुमार सिन्हा के कार्यकाल में चल रहा है फरार

✍️परवेज़ अख्तर/एडिटर इन चीफ:
सिवान जिले के टॉप टेन अपराधियों की सूची में शामिल कुख्यात अपराधी तथा कई संगीन मामलों का वांछित फरार चल रहा चंदन सिंह के घर एसडीपीओ फिरोज आलम के नेतृत्व में एसटीएफ की टीम एवं लगभग आधा दर्जन थाना की पुलिस टीम ने उसके गांव एमएच नगर थाना क्षेत्र के डीबी गांव में छापेमारी की।छापेमारी के दौरान एमएच नगर थानाध्यक्ष पंकज कुमार ठाकुर,जीबी नगर थानाध्यक्ष सह इंस्पेक्टर अखिलेश कुमार,बड़हरिया थानाध्यक्ष पंकज कुमार, हुसैनगंज थानाध्यक्ष विजय कुमार यादव,के अलावा लगभग आधा दर्जन थाना की पुलिस टीम शामिल थी।लगभग डेढ़ सौ पुलिसकर्मियों का काफिला लेकर पहुंचे एसडीपीओ फिरोज आलम ने उसके घर के चारों तरफ से घेराबंदी कर छापेमारी की।लगभग डेढ़ सौ पुलिसकर्मियों के अचानक गांव में पहुंचने से अफरा-तफरी का माहौल कायम हो गया।यह छापेमारी गुरुवार की मध्य रत्रि में की गई।विश्वस्त सूत्रों से प्राप्त जानकारी के मुताबिक एसटीएफ की टीम को तकनीकी सेल के आधार पर पता चला कि कुख्यात अपराधी चंदन सिंह जो अपने गांव आया हुआ है।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2023-10-11 at 9.50.09 PM
WhatsApp Image 2023-10-30 at 10.35.50 AM
WhatsApp Image 2023-10-30 at 10.35.51 AM
ahmadali
WhatsApp Image 2023-11-01 at 2.54.48 PM

इस बात की सूचना प्राप्त होते हीं एसटीएफ की टीम ने इस बात की सूचना पुलिस कप्तान श्री शैलेश कुमार सिन्हा को दी।तो तुरंत पुलिस कप्तान श्री शैलेश कुमार सिन्हा के दिशा निर्देश के आलोक में एसडीपीओ फिरोज आलम के नेतृत्व में लगभग आधा दर्जन थाना की पुलिस टीम ने एमएच नगर थाना क्षेत्र के डीबी गांव में पहुंचकर कुख्यात अपराधी चंदन सिंह के घर छापेमारी की छापेमारी की।इस दौरान एसडीपीओ फिरोज आलम ने कुख्यात अपराधी चंदन सिंह के घर के सभी कमरों को बारी-बारी से तलाशी ली तथा आसपास के संदिग्ध ठिकानों का भी उन्होंने जांच किया।लेकिन कुख्यात अपराधी चंदन सिंह की गिरफ्तारी नहीं हो पाई।यहां बताते चले कि इन दिनों कुख्यात अपराधी चंदन सिंह सिवान सहित सीमावर्ती जिले की पुलिस के लिए काफी सिरदर्द बना हुआ है।जिसकी गिरफ्तारी के लिए पुलिस लगातार प्रयास कर रही है।गिरफ्तारी टीम में लगे पुलिस पदाधिकारी उसकी गिरफ्तारी के लिए तकनीकी सेल का भी सहारा ले रही है।लेकिन बार-बार के टावर लोकेशन सही ढंग से प्राप्त नहीं होने पर उसकी गिरफ्तारी नहीं हो पा रही है।हालांकि सिवान एसपी श्री शैलेश कुमार सिन्हा का दावा है कि उसे हर हाल में गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

यहां कुख्यात अपराधी चंदन सिंह पर प्रकाश डालते हुए बताते चलें कि चंदन सिंह का अपराधिक इतिहास बहुत लंबा चौड़ा है।इतना जरूर है कि उसने खेलने-कूदने की उम्र में वह अपराध की दुनिया में कदम रख दिया।इसके बाद उसने रूकने का नाम लिया।एमएच नगर थाना क्षेत्र के पकड़ी गांव निवासी पूर्व मुखिया के भाई की हत्या कर उसने सनसनी फैला दी थी।इसके बाद जिला सहित गोपालगंज, छपरा व सीमावर्ती प्रदेश यूपी के बलिया जिला में भी हत्या,लूट सहित अन्य कई घटनाओं को अंजाम दिया है।पुलिस रिकार्ड के मुताबिक एमएचनगर थाने के डीबी गांव निवासी श्रीराम सिंह का एकलौता पुत्र चंदन सिंह लोकसभा चुनाव के दौरान ही गांव निवासी तारकेश्वर प्रसाद से रंगदारी की मांग की थी।नहीं देने पर उसने चाकू से मारकर गंभीर रूप से घायल कर दिया था।इसके बाद वह फरार हो गया।इस बीच उसने पुलिस से बचने के राजनीतिक संरक्षण ले लिया।इसके आड़ में उसने 8 जून 2014 की रात्रि में एमएच नगर थाना क्षेत्र के पंकड़ी पंचायत के पूर्व मुखिया हरेन्द्र यादव के भाई दिलीप यादव की हत्या तीन अपराधियों के संग मिलकर कर दी।इस दौरान उपमुखिया रमेश यादव भी गंभीर रूप से घायल हो गए थे।

इस घटना में अपराधियों ने बोलेरो का इस्तेमाल किया था।वारदात के बाद पूर्व मुखिया हरेन्द्र यादव के बयान पर एमएचनगर थाने में चंदन सिंह व महुअल महाल निवासी अमरजीत सिंह को नामजद किया गया था।इस घटना के बाद भी चंदन अपराध की दुनिया सक्रिय रहा।चंदन सिंह का चचेरा भाई टैरी सिंह भी अपराधी प्रवृति का था।जिसकी हत्या अपराधियों ने पूर्व में बंटवारे को लेकर कर दी थी।यहां कुख्यात अपराधी चंदन सिंह पर प्रकाश डालते हुए बताते चलें की तेजाब गवाह हत्याकांड में उसका नाम उछलकर सुर्खियों में आया।कुख्यात चंदन सिंह को सिवान के तत्कालीन एसपी विकास वर्मन द्वारा गठित पुलिस टीम ने उसे गिरफ्तार किया था।सिवान सदर के तत्कालीन एएसपी विवेकानंद के पर्यवेक्षक टिप्पणी के दौरान कई कांडों में उसकी संलिप्तता की बात सामने आई थी।मालूम हो कि उक्त घटना 16 जून की देर शाम हुई थी।फिलहाल कुख्यात चंदन सिंह जेल से छूटने के बाद फरार चल रहा है तथा उसकी गिरफ्तारी के लिए सिवान पुलिस लगातार प्रयास कर रही है परंतु वह अभी तक पुलिस पकड़ से बाहर है।