विदेशी मेम को भा गया बिहार का लाल, सात समुन्दर पार से आकर रचायी शादी

0

पटना: कहते हैं रिश्ते स्वर्ग में बनते हैं. दूरी चाहे जितनी हो, सात समंदर पार भी ये रिश्ते बन जाते हैं. ऐसा ही कुछ नजारा बिहार के बक्सर में देखने को मिला, जहां बिहारी दूल्हे और विदेशी दुल्हन की शादी जिले में चर्चा का विषय बन गई है. जहां प्यार में सरहदों के बंधन को दरकिनार कर बक्सर निवासी एक युवक ने ऑस्ट्रेलियाई युवती से शादी कर ली. शादी भी ऐसी-वैसी नहीं बल्कि पूरे भारतीय रस्मों रिवाज और धूमधाम से।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2022-08-26 at 8.35.34 PM
WhatsApp Image 2022-09-15 at 8.17.37 PM

खास बात यह है कि इस शादी में वर और वधु दोनों पक्षों के लोगों की रजामंदी भी है और दोनों परिवार काफी खुश भी हैं. जयप्रकाश ने 2019 से 2021 तक ऑस्ट्रेलिया में रहकर पढ़ाई की. वह एमएस सिविल इंजीनियर के पद पर ऑस्ट्रेलिया में पदस्थापित हैं. पढ़ाई के दौरान ही जयप्रकाश को ऑस्ट्रेलिया के मेलबर्न शहर के जीलॉन्ग की रहने वाली इस विक्टोरिया से प्यार हुआ. उसके पिता स्टीवन टॉकेट एवं माता अमेंडा टॉकेट भी अपनी बेटी विक्टोरिया के साथ इटाढ़ी के कुकुढा आए हैं. इन्होंने हिंदू रीति रिवाज से अपनी बेटी विक्टोरिया की शादी कुकुढा के पूर्व मुखिया नंदलाल सिंह के बड़े पुत्र जयप्रकाश यादव से कराई।

विक्टोरिया के साथ बिहार के बक्सर में पहुंचे विदेशी परिवार को बिहारी संस्कृति खूब पसंद आया. 20 अप्रैल को जब शहर के निजी मैरेज हाल में दोनो शादी के बंधन में बंध गए, तो दुल्हन के माता पिता की खुशी का ठिकाना नहीं रहा. इस शादी समारोह को देखने के लिए दूरदराज से बड़ी संख्या में लोग पहुंचे थे।

जयप्रकाश की दुल्हनियां विक्टोरिया अपने शहर में बतौर शिक्षिका कार्यरत हैं. अपने पांच भाई और दो बहनों में सबसे छोटी विक्टोरिया की पसंद पर उनके माता-पिता को भी नाज है. बेटी का कन्यादान करने की रस्म निभाने के बाद जब उनके माता-पिता से उनके दामाद के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि उन्हें अपनी बेटी की पसंद पर नाज है. उन्होंने बिहारी संस्कृति को भी काफी समृद्ध संस्कृति बताया।