फॉरेंसिक जांच को चिकित्सकों ने पुलिस को सौंपे मृत भेड़ों के अंग

0
janch

परवेज अख्तर/सिवान : जिले के दारौंदा प्रखंड के जलालपुर चंवर में 30 जनवरी को जहरीले घास चरने से करीब दो सौ भेड़ की हुई मौत मामले में शुक्रवार को पोस्टमार्टम के दौरान मृत भेड़ों के निकाले गए अंग को फॉरेसिंक जांच के लिए चिकित्सक संजय कुमार कौशिक ने दारौंदा पुलिस को सौंप दिया। इस संबंध में पोस्टमार्टम करने वाले चिकित्सक संजय कुमार कौशिक ने बताया कि शुक्रवार को दारौंदा पुलिस को पोस्टमार्टम में निकाली गई लिवर, हार्ट, किडनी, लैगर आदि को सोडियम क्लोराइड एक डिब्बे में रखकर दारौंदा पुलिस को दी गई। उन्होंने बताया कि डीएम रंजिता के आदेश के पत्रांक 299 दिनांक 30 जनवरी 2019 के आलोक में दो मरे भेड़ों का पोस्टमार्टम किया गया तथा इनके आंतरिक अंगों को विधि विज्ञान प्रयोगशाला पटना में फॉरेंसिक जांच कराने का दिशानिर्देश मिला था। इसी आदेश पर दारौंदा पुलिस को आंतरिक अंग को दिया गया। उन्होंने बताया कि सोडियम क्लोराइड में 90 दिनों यानी तीन माह तक अंग सुरक्षित रह सकते हैं। उन्होंने कहा जिस भेड़ ने जहरीले घास खा लिए हैं उनके बचने की उम्मीद कम है। उन्होंने बताया कि अन्य भेड़ों के मरने की कोई सूचना शुक्रवार को नहीं मिल पाई है।

अपनी राय दें!

Please enter your comment!
Please enter your name here