पूर्व एमएलसी प्रत्याशी रईस खान के काफिले पर फायरिंग मामले में चर्चित पूर्व मुखिया साबिर मियां ने न्यायालय में किया आत्मसमर्पण, पुलिस लेगी रिमांड पर

0

✍️परवेज अख्तर/एडिटर इन चीफ:
सिवान पुलिस कप्तान श्री शैलेश कुमार सिन्हा के दिशा निर्देश के आलोक में पूर्व एमएलसी प्रत्याशी रईस खान पर हुई ताबड़तोड़ फायरिंग मामले में आरोपितों की गिरफ्तारी हेतु गठित पुलिस दल के दबिश के कारण सिवान जिले के बिंदुसार पंचायत के पूर्व मुखिया सह ओरमा गांव निवासी साबिर मियां ने दो चर्चित मामले में कोर्ट में सरेंडर कर दिया। उक्त आशय की जानकारी देते हुए सिवान पुलिस कप्तान श्री शैलेश कुमार सिन्हा ने बताया की फिलहाल साबिर मियां के विरुद्ध जिले के दो अलग-अलग थानों में दो मामले दर्ज हैं। इस मामले में वह फरार चल रहा था।जिसकी गिरफ्तारी के लिए एक विशेष पुलिस टीम का गठन किया गया था।जिसकी गिरफ्तारी हेतु उसके घर पर बार-बार हो रही छापेमारी के कारण वह न्यायालय में आत्मसमर्पण कर दिया।यहां बताते चले कि साबिर मियां के विरुद्ध सिवान के पूर्व एमएलसी प्रत्याशी रईस खान के काफिले पर फायरिंग करने का आरोप है।

विज्ञापन
WhatsApp Image 2023-01-25 at 10.13.33 PM
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2022-08-26 at 8.35.34 PM
WhatsApp Image 2022-09-15 at 8.17.37 PM

पूर्व एमएलसी प्रत्याशी रईस खान के काफिले पर जोरदार तरीके से की गई फायरिंग मामले में साबिर मियां समेत अन्य को नामजद आरोपित किया गया था।वहीं इसके अलावा शुभम कंस्ट्रक्शन के प्रोपराइटर एवं विधानसभा अध्यक्ष श्री अवध बिहारी चौधरी के करीबियों में से एक माने जाने वाले अजय कुमार उर्फ मुन्ना चौधरी ने भी साबिर मियां के विरुद्ध मामला दर्ज कराये हुए थे।पुलिसिया दबाव को देखते हुए साबिर मियां ने उपरोक्त दोनों मामलों में सरेंडर कर जमानत के लिए अदालत से निवेदन किया।एसीजेएम नौ, सारिका बहालिया की अदालत ने जहां सुनवाई के पश्चात साबिर मियां को मुन्ना चौधरी द्वारा अंकित मामले में जमानत प्रदान कर दिया।वहीं अदालत ने पूर्व एमएलसी प्रत्याशी रईस खान के काफिले पर गोली चलाए जाने के मामले में याचिका को खारिज कर आरोपी साबिर मियां को जेल के सलाखों के पीछे जाने का आदेश पारित कर दिया।विश्वस्त पुलिस सूत्रों की माने तो पूर्व एमएलसी प्रत्याशी रईस खान के काफिले पर फायरिंग मामले में बहुत हीं जल्द साबिर मियां को पुलिस रिमांड पर लेकर गहराई पूर्वक पूछताछ कर सकती है। जिसकी प्रक्रिया चर्चित फायरिंग मामले में अनुसंधानकर्ता द्वारा प्रक्रिया भी शुरू कर दी गई है।

यहां बताते चले कि जोरदार तरीके से पूर्व एमएलसी प्रत्याशी रईस खान के काफिले पर फायरिंग मामले में कई आरोपी जेल में है तथा अन्य कई आरोपी अभी भी पुलिस पकड़ से बाहर है।यहां बताते चलें कि जेल भेजे गए साबिर मियां के विरुद्ध पूर्व में ही कई संगीन मामले दर्ज हैं जो मामला अभी न्यायालय में विचाराधीन है। पूर्व एमएलसी प्रत्याशी रईस खान पर जोरदार तरीके से हुई फायरिंग के दौरान एक व्यक्ति की मौत हो गई थी तथा कई लोग सदीद तौर पर जख्मी हो गए थे।घटना उस समय घटी थी कि जब शहर स्थित अपने कार्यालय से अपने काफिला के साथ रईस खान अपने घर लौट रहे थे तभी हुसैनगंज थाना इलाका में मौत के घाट उतारने की नियत से उनके काफिले पर अत्याधुनिक हथियार से फायरिंग की गई थी।जोरदार तरीके से हुई फायरिंग में रईस खान बाल-बाल बच गए थे लेकिन उनके कई समर्थक सदीद तौर पर जख्मी हो गए थे।इस दौरान एक व्यक्ति की जान भी चली गई थी।इस मामले में पूर्व एमएलसी प्रत्याशी रईस खान के लिखित आवेदन पर हुसैनगंज थाना में मामला दर्ज कराया गया था।रईस खान द्वारा मामला दर्ज कराते हीं सिवान की राजनीतिक तपिस भी बढ़ गई थी।