महादेवा में दोस्त ने ली दोस्त की जान, सनसनी

0
rote bilakhte parijan

28 को गांव के दोस्तों के साथ गया था बरात

29 को मां ने थाना में प्राथमिकी दर्ज करने का दिया था आवेदन

4 को दाहा नदी ओरमा – हकाम सीमा से मिला शव

परवेज़ अख्तर/सीवान:- जिले के महादेवा ओपी थाना क्षेत्र के आकोपुर गांव निवासी मोहन प्रसाद साह के पुत्र आलोक कुमार 17 वर्ष की हत्या उसके दोस्तों ने ही कर दिया . जिसके बाद शव को ठिकाने लगाने के नियत से ओरमा-हकाम सीमा से लगे दाहा नदी में आलोक को लेकर जाकर फेंक दिया . इस संबंध में आलोक की मां ज्ञांती देवी अपने पुत्र के गायब होने का आवेदन महादेवा ओपी थाना में 30 जून को ही दे दिया था . आवेदन में मां ने कहा था कि 28 जून को आलोक अपनी बाइक से महुवारी बरात में गया . 29 जून को काफी खोजने के बाद भी उसका पता नहीं लगा तो मैं परेशान होने लगी . खोजबीन के क्रम में ही गांव के ही भोला सिंह के दरवाजे से उसका बाइक व एक मोबाइल मिला तो मुझे आलोक के साथ अनहोनी होने की आशंका सताने लगी . दादा गुरु चरण साह कह रहे थे कि पुलिस उल्टे हमलोंगो पर पूछताछ के लिये दबाव बना रही थी . हमलोगों के द्वारा बताने पर भी आरोपियों के घर नहीं जा रही थी . परिजनों का कहना था कि पुलिस सक्रिय रहती तो आलोक की हत्या नहीं होती .

चार भाई बहनों में सबसे छोटा था आलोक

आलोक चार भाई बहनों में सबसे छोटा था . पहली बड़ी बहन पूजा की शादी दो साल पहले हो चुकी है . दूसरा भाई राजन कुमार साह दिल्ली में पढ़ायी करता है . तीसरी बहन रजनी कुमारी इंटर में पढ़ती है . आलोक इसी साल मैट्रिक का परीक्षा दिया था . पिता मोहन प्रसाद 15 वर्षों से विदेश रहते है .

mritak ka file photo
मृतक का फाइल फोटो

दोस्तों पर लगाया हत्या करने आरोप

वृद्ध दादा गुरु चरण प्रसाद रोते हुये कहा रहे कि 28 जून को गांव के ही भोला सिंह के पुत्र बंटी कुमार , रमेश कुशवाहा के पुत्र जैकी व विशाल के साथ बरात में गया था . लेकिन उक्त लोग मेरे नाती को बसंतपुर अपने रिश्तेदार के यहां शादी में लेकर चले गये थे रात को आने के बाद घर का दरवाजा भी आलोक खटखटाया था . तब उक्त लोगों ने बोला कि मेरे ही घर चल कर शो जाओ . उन्हीं लोगों ने मेरे नाती को हत्या कर शव को ठिकाना लगा दिया है . बहन रजनी कुमारी ने भी उक्त लोगों पर हत्या करने की बात कह रही थी. मां भी उन्हीं लोगों का नाम ले रही थी .

Loading...

अपनी राय दें!

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.