राजा सिंह महाविद्यालय में 50 वर्ष पूर्ण होने पर मनाई गयी स्वर्ण जयंती

0

परवेज अख्तर/सिवान: राजा सिंह महाविद्यालय में 50 वर्ष पूर्ण करने के बाद स्वर्ण जयंती महोत्सव माना रहा है , जिसका उद्घाटन माननीय कुलपति प्रो. फारूक अली के कर कमलों के द्वारा किया गया । माननीय कुलपति और प्राचार्य राजा सिंह महाविद्यालय डॉ.उदय शंकर पांडेय ने इस स्वर्ण जयंती महोत्सव को पूरे साल भर मानने का ऐलान किया । आज दिनांक 10.03.2021 को स्वर्ण जयंती महोत्सव का दूसरा दिन था l दूसरे दिन संगोष्ठी का विषय ” बेटी बचाओ , बेटी पढ़ाओ” का था , जिसका विधिवत शुभारंभ प्राचार्य डॉ. उदय शंकर पांडेय ने किया । अपने संबोधन में उन्होंने माननीय प्रधानमंत्री को सकल्पित बताया की यह कार्यक्रम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दृढ़ संकल्प का देन हैं। आज समय आ गया है कि बेटियो को बेटों का दर्जा मिलना चाहिए। सभी समान है , किसी में भेद भाव न हो। आज पूरा संसार बेटियो के बल बूते पर चल रहा है। देश के अग्रणी कार्यों में बेटियो ने बढ़ा चढ़ हिस्सा लिया है।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
dr faisal

आज हवाई जहाज से लेकर देश के सभी प्रशासनिक कार्यों में ऊंचाई को प्राप्त किया है। संबोधन के इस कड़ी में प्रो. विनय शंकर , विभागाध्यक्ष संस्कृत ने कहा कि बेटियो और बेटो में फर्क करना सामाजिक गुनाह है। या खाई को मिटाना पड़ेगा , सामाजिक स्तर पर लोगो की सोच को और ऊपर ले जाना होगा। प्रो.श्याम शंकर, विभागाध्यक्ष , राजनीति विज्ञान विभाग ने कहा कि आज के आधुनिक कालखंड ने एक बेटी दो बेटो के बराबर है। लिंग भेद के आधार पर समाज को बाटा जा रहा है, एक खाई बनाई जा रही है। प्रो. शैलेश कुमार राम, असिस्टेंट प्रोफेसर राजनीति विज्ञान ने कहा कि भ्रूण हत्या महा पाप है , देश की आधी से अधिक जनसंख्या बेटा के आगे बढ़ाने में लगा हुआ है , आज भ्रूण हत्या के कारण लिंगानुपात में प्रभाव पड़ा है। उन्होंने कहा की माननीय प्रधानमंत्री का दूरगामी सोच है , जिन्होंने अपने प्रथम काल में सबसे पहले बेटी बचाओ , बेटी पढ़ाओ का संकल्प लिया । बेटियो को आगे बढ़ाने के लिए दलित , वंचित और समाज के मुख्य धारा से अलग हुए लोगो को जोड़ने के लिए संकल्प लिया। आज बिटिया देश के हर बड़े प्रशासनिक पदों को सुशोभित कर रही है। मंच का संचालन प्रो.ऋतुराज असिस्टेंट प्रोफेसर इतिहास ने किया । कार्यक्रम के छात्र छात्राओं को समानित किया गया, जिसमे काजल कुमारी, लालसा कुमारी , अर्चना कुमारी, नेहा कुमारी, नितेश कुमार तिवारी, अवनीश, अनुज, विनोद, पंकज आदि को सम्मानित किया गया ।