गोरेयाकोठी: नकारे गए दिलीप तो स्वीकारे गए अखिलेश्वर

0
  • श्री दिलीप तिवारी के झोली में मात्र 733 मत हीं पड़े
  • श्री अखिलेश्वर पर लोगों ने विश्वास जताते हुए उनके ईवीएम के बटन को 2326 लोगों ने किया यूज
  • गोरेयाकोठी मुखिया संघ के अध्यक्ष हैं श्री दिलीप तिवारी

✍️ परवेज अख्तर/एडिटर इन चीफ:
जिले के गोरेयाकोठी प्रखंड के मुखिया संघ के अध्यक्ष सह कर्णपुरा पंचायत से मुखिया पद से उम्मीदवार श्री दिलीप तिवारी को जनता ने नकारते हुए अपना नया मुखिया कर्णपुरा के वर्तमान पैक्स अध्यक्ष श्री अखिलेश्वर तिवारी को चुनते हुए पंचायत की जिम्मेवारी सौंपी है।यहां बताते चलें कि इस पंचायत से बड़हरिया विधानसभा क्षेत्र के पूर्व विधायक श्री श्याम बहादुर सिंह के एक बृहद करीबी सह पूर्व जिला परिषद संख्या 35 के पूर्व जिला परिषद सदस्य श्री संतोष प्रसाद चौहान,तथा पूर्व मुखिया सुमेरी देवी के पुत्र धनंजय सिंह समेत अन्य लोग चुनावी मैदान में थे।वर्तमान मुखिया श्री दिलीप तिवारी को जनता ने नकारते हुए उनके झोली में मात्र 733 मत हीं डालें,जबकि नवनिर्वाचित मुखिया श्री अखिलेश्वर तिवारी के ईवीएम में 2326 मत पड़े,वहीं पूर्व मुखिया सुमेरी देवी के पुत्र श्री धनंजय सिंह को 540 मत हीं प्राप्त हुए,जबकि पूर्व जिला परिषद श्री संतोष प्रसाद चौहान को 418 मत हीं पाकर उन्हे संतुष्टि हासिल करनी पड़ी।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2022-08-26 at 7.27.12 PM
WhatsApp Image 2022-08-26 at 8.35.34 PM
WhatsApp Image 2022-09-15 at 8.17.37 PM

chunav

इस प्रकार से कर्णपुरा पंचायत की जनता ने वर्तमान मुखिया श्री दिलीप तिवारी को नकारते हुए अपने पंचायत की जिम्मेवारी श्री अखिलेश्वर तिवारी को सौंपी है।यहां बताते चले कि इसके पूर्व भी नवनिर्वाचित मुखिया श्री अखिलेश्वर तिवारी चुनावी मैदान में थे,लेकिन उन्हें सफलता हासिल नहीं हो सकी थी।लेकिन इस बार के चुनावी अखाड़े में उनके चुनावी रूपी नैया के वैतरणी को कर्णपुरा पंचायत के आम जनमानस ने एक केवट बनकर पार किया है।उधर श्री अखिलेश्वर तिवारी के विजई होने के बाद पूरा पंचायत जश्न में डूबा हुआ है,चारों तरफ लोग मिठाइयां बांटकर खुशी का इजहार कर रहे हैं, इस मौके पर नवनिर्वाचित मुखिया श्री अखिलेश्वर तिवारी ने कहा कि यह हमारी जीत नहीं बल्कि कर्णपुरा पंचायत के आम जनमानस की जीत है।कर्णपुरा पंचायत के आम जनमानस ने मुझ पर भरोसा जताते हुए पंचायत की जिम्मेवारी सौंपी है।जिसके दायित्व का निर्वहन करना मेरी पहली प्राथमिकता होगी।