बरसात के पानी की निकासी नहीं होने से सैकड़ों एकड़ फसल जलमग्न

0

ओरमा व हाकाम गांव के ग्रामीणों में आक्रोश

परवेज अख्तर/सिवान :- बीते 15 दिनों से हो रही झमाझम बारिश से हर तरफ जल जमाव का नजारा दिख रहा है. किसानों द्वारा लगायी गयी सब्जी, मक्के सहित अन्य फसल पानी में डूबी हुई है. उसकी निकासी का कोई रास्ता नहीं है. यह देख मंगलवार को ग्रामीण सड़क पर उतर गये. आक्रोशितों ने मुफस्सिल थाना क्षेत्र के हकाम व ओरमा के समीप सीवान लकड़ी मुख्य मार्ग और हाइवे पर हंगामा करने पर उतारू हो गये.

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
dr faisal

बताते चले कि सदर प्रखंड व पचरुखी प्रखंड के बॉर्डर स्थित हकाम हाईवे के दोनों तरफ स्थित दोनों गांव में बरसात के पानी के चलते सैकड़ों एकड़ फसल जलमग्न हो गयी हैं. फसल को नुकसान होता देख स्थानीय लोगों ने प्रशासनिक पदाधिकारियों से जल निकासी का गुहार लगाया है लेकिन इसका कोई समाधान नहीं निकल पाया.

हमेशा ग्रामीणों को सांत्वना मिलती है कि शीघ्र जल निकासी की व्यवस्था कर ली जायेगी. परंतु समस्या जस की तस बरकरार रही. जिसको लेकर ग्रामीणों ने सोमवार को सदर एसडीओ को आवेदन देकर जल निकासी की गुहार लगाई. आक्रोशितों का कहना था कि हाइवे बन जाने के बाद ओरमा, हकाम व आकोपुर गांव में जमा बरसात के पानी की निकासी नहीं हो पा रही है.

इसके पहले इस रास्ते से बरसात का पानी नदी में गिरता था, परंतु लोग मिट्टी भर कर मकान का निर्माण करा लिए है, जिसके चलते पुलिया का मुंह बंद हो गया है. मंगलवार को सदर एसडीओ रामबाबू बैठा, पचरुखी सीओ रामानंद सागर प्रखंड विकास पदाधिकारी डॉ इस्माइल अंसारी हाईवे पर जेसीबी के साथ नाला खुदवाने के लिए पहुंचे. लेकिन कुछ स्थानीय लोगों द्वारा इस पर रोक लगा दी गई. इधर वाहन में बैठे एसडीओ रामबाबू बैठा को ग्रामीणों ने नीचे उतार समस्या को दिखाया और निजात दिलाने की मांग की.