बीस लाख की रंगदारी मामले में फोटो दिखा अपराधियों की हुई पहचान

0
rangdari manga

परवेज अख्तर/सिवान:- जिले के दारौंदा थाना क्षेत्र के कोड़ारी गांव के समीप गंडक नहर निर्माण के ठेकेदार से 28 नवंबर को अपराधियों द्वारा 20 लाख की रंगदारी मांगने के मामले में पुलिस ने अपराधियों की पहचान कर ली है। उनकी गिरफ्तारी के लिए संदेहात्मक ठिकाने पर छापेमारी शुरू कर दी है। इस मामले पुलिस दावा कर रही है कि शीघ्र ही अपराधियों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा। इस संबंध में एसडीपीओ महाराजगंज संजय कुमार ने बताया कि कुछ फोटो दिखाकर पहचान कराई गई है। मजदूरों ने कुछ की पहचान फोटो देखते ही कर ली है। उन्होंने बताया कि टीम गठित कर अपराधियों की गिरफ्तारी के लिए संदेहात्मक ठिकानों पर गुरुवार की रात से ही छापेमारी की जा रही है। अपराधियों की पहचान हो चुकी, अब इनकी गिरफ्तारी एक चुनौती बन गई हैं। फिर भी उम्मीद है कि सभी अपराधियों को शीघ्र गिरफ्तार कर लिया जाएगा। समाचार प्रेषण तक प्राथमिकी दर्ज नहीं हुई थी।

ठेकेदार से 20 लाख की रंगदारी मांगना बना चर्चा का विषय

दारौंदा थाना क्षेत्र के कोड़ारी गांव के समीप गंडक नहर निर्माण के ठेकेदार से 20 लाख की रंगदारी मांगना लोगों में चर्चा का विषय बना हुआ है। क्षेत्र में नहर का काम करा रहे ठेकेदार से इतनी बड़ी राशि की रंगदारी मांगे जाने के बाद लोगों में भी भय का माहौल है। कंपनी के क्लर्क शिवम कुमार के सहयोगी आजाद कुमार ने बताया कि तीन लोग हथियार के साथ हमलोगों के कार्यालय में आए और हमलोगों से 20 लाख रुपये की रंगदारी और हमारे कंपनी के बड़े अधिकारियों के नंबर मांगने लगे और रुपये और नंबर नहीं दिए जाने को ले उन्होंने क्लर्क शिवम कुमार की पिटाई की। रजब मैंने इसका विरोध किया तो वो लोग मेरे कनट्टी पर दोनों तरफ से पिस्टल रख दिए जिसकी वजह से मैं कुछ नहीं कर पाया। अपराधी कार्यालय में करीब आधा घंटा तक रहे।