सिवान के हसनपुरा में पिता ने दो मासूम बच्चियों को पोखरे में फेंक कर उतारा मौत के घाट, तंग आकर खुद कर रहा था खुदकुशी

0

डुबने से दोनों बच्चियों की मौत

✍️परवेज अख्तर/एडिटर इन चीफ:
सिवान जिले के एमएच नगर थाना के अरंडा व ब्लौक के पीछे धुबई पोखरे में एक पिता ने अपने दो सगे बेटियों को पोखरे में फेंक कर खुद भी कर रहा था खुदकुशी. स्थानीय ग्रामीणों ने पिता को बचा लिया. लेकिन दो बच्चियों को लोगों ने नहीं बचा सकी.पीड़ित पिता अरंडा निवासी चंद्रिका साह के 45 वर्षीय पुत्र बिनोद साह है.बताया जा रहा है कि बिनोद को एकाध साल पूर्व लकवा मार दिया था. जिसको लेकर आर्थिक तंगी और घर की माली हालत देखर वह अवसाद में चल रहा था. जिसको ले यह दर्दनाक कदम उठा लिया.घटना शाम करीब छह बजे की है.शौच करने गये लोगों ने इस हृदय विदारक घटना को देखा.उसके बाद बच्चियों को पोखरे में ढ़ुढ़ने लगे.काफी मशक्कत के बाद लोगों ने चार वर्षीय सलोनी कुमारी व दो वर्षीय बुलबुल कुमारी का शव पोखरे से बाहर निकाला.

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2022-08-26 at 8.35.34 PM
WhatsApp Image 2022-09-15 at 8.17.37 PM

WhatsApp Image 2022 09 22 at 8.33.37 PM

घटना की सूचना मिलते ही पूरे क्षेत्र में सनसनी फैल गयी.घटना के बाद मृत बच्ची की मां सबिता देवी और बड़ी बहन का रोरोकर हाल बुरा है। सामाचार लिखे जाने तक दोनों शव घर था।वहीं घटना की सूचना मिलते ही स्थानीय पुलिस घटना स्थल पहुंच मामले की जांच कर रही है। घटना के बाद इलाके में सनसनी फैल गयी।देखते ही देखते लोगों का भीड़ जमा हो गया। घटना के बारे में बताया जा रहा है कई सालों से स्व चंद्रिका साह के बिनोद साह को लकवा मार दिया है।

जिससे घर की माली हालात ठीक नहीं थी। इसी तंगी हालात को लेकर पिता ने ऐसा कठोर कदम उठा लिया। बिनोद साह के तीन पुत्री है बड़ी बेटी सोनी कुमारी के अलावे यह दो मृत बच्चियां थी। घटना के बाद मृत बच्ची की मां सबिता देवी और बड़ी बहन का रोरोकर हाल बुरा है। सामाचार लिखे जाने तक दोनों शव घर था।वहीं घटना की सूचना मिलते ही स्थानीय पुलिस घटना स्थल पहुंच मामले की जांच कर रही है।