सिवान के ग्रामीण क्षेत्रों में व्रतियों ने भगवान सूर्य को अर्घ्य देकर की सुख समृद्धि की कामना

0

✍️परवेज अख्तर/सिवान:
जिले के विभिन्न प्रखंड मुख्यालय समेत ग्रामीण क्षेत्रों में लोक आस्था और सूर्योपासना का महापर्व छठ पूजा सोमवार को उदीयमान सूर्य को अर्घ्य देने के साथ संपन्न हो गया। छठव्रती व स्वजनों ने भगवान सूर्य की पूजा कर सुख समृद्धि की। छठ गीतों से वातावरण गूंज उठा। इसके अलावा छठ व्रतियों ने अन्य देवी-देवताओं की पूजा अर्चना के बाद पारण कर चार दिवसीय अनुष्ठान छठ महा पूर्व का समापन किया। मौके पर स्वजन छठव्रतियों का अभिवादन कर आशीर्वाद लिया। आशीर्वाद लेने का सिलसिला देर तक चलता रहा। घाटों की आकर्षक सजावट की गई थी। बच्चों द्वारा खूब आतिशबाजी की गई। ज्ञात हो कि 17 नवंबर को छठव्रती नहाय खाय के साथ चार दिवसीय अनुष्ठान छठ पूजा की शुरुआत की। इसके बाद 18 नवंबर की शाम खरना, 19 नवंबर की शाम अस्ताचलगामी सूर्य को अर्घ्य तथा 20 नवंबर को उदीयमान सूर्य को अर्घ्य के साथ चार दिवसीय अनुष्ठान छठ महापर्व का समापन किया।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2023-10-11 at 9.50.09 PM
WhatsApp Image 2023-10-30 at 10.35.50 AM
WhatsApp Image 2023-10-30 at 10.35.51 AM
ahmadali
WhatsApp Image 2023-11-01 at 2.54.48 PM

छठ गीतों से गूंजता ग्रामीण क्षेत्र :

WhatsApp Image 2023 11 20 at 7.34.57 PM

चार दिवसीय अनुष्ठान छठ पूजा के अवसर पर छठ गीतों से पूरा वातावरण गूंजता रहा। इस दौरान छठव्रती व अन्य महिलाएं केलवा से फरेला घवद से… रुनकी, झुनकी बेटी मांगी ले, पढ़ल पंडितवा दामाद…, उग उग सूरज हो देवा, भइले अर्घ्य के बेरिया… आदि छठ गीतों से पूरा माहौल भक्तिमय हो गया था।

साष्टांग दंडवत की रही परंपरा :

जिला मुख्यालय समेत विभिन्न प्रखंडों में साष्टांग दंडवत की परंपरा देखने को मिली। कई श्रद्धालु अपने घरों से छठ घाट तक साष्टांग दंडवत करते हुए पहुंचे और भगवान सूर्य की आराधना की। इसके अलावा कई श्रद्धालुओं को घंटों पानी में खड़े रहकर भगवान सूर्य की आराधना करते देखा गया। इन श्रद्धालुओं की भक्ति देखकर अन्य लोगों में भक्ति भावना देखने को मिली।

प्रसाद वितरण की लगी रही होड़ :

छठ पूजा के बाद एक-दूसरे के बीच प्रसाद वितरण करने की होड़ लगी रही। छठ घाटों पर कई श्रद्धालु तो भीख के रूप में प्रसाद मांगते देखे गए। इसके अलावा श्रद्धालु अपने रिश्तेदारों एवं ईष्ट मित्रों के यहां देर शाम तक प्रसाद वितरित करते देखे गए।

एक-दूसरे के सहयाेग में लीन दिखे श्रद्धालु :

छठ पूजा में लोग आपसी भेदभाव भाव भूलकर घाट की साफ-सफाई, सजावट, सड़क की सफाई तथा भगवान सूर्य को अर्घ्य देने तक एक-दूसरे का सहयोग करते देखे गए। लोगों में एक-दूसरे के प्रति आपसी सद्भाव व भाइचारे की संभावना देखी गई।