घटना:- असम से यात्रा कर सास के अंतिम संस्कार में भाग लेने आ रहे दामाद को जहरखुरानी ने लूटा, इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती

0
  • जहरखुरानी का शिकार रेल यात्री बड़हरिया थाना के छोटकी पकड़ी गांव का है रहने वाला
  • घटना के बावजूद पल्ला झाड़ रही है सिवान जीआरपी

परवेज़ अख्तर/सिवान:
जहां एक और कोरोना काल में अपने घर को लौटने के लिए प्रवासी मजदूर बेहाल हैं।वहीं दूसरी ओर इस कोरोना काल के महामारी में भी जहरखुरानी गिरोह के सदस्य प्रवासी मजदूरों की गाढ़ी कमाई लूटने से परहेज नहीं कर रहे हैं।इसी कड़ी में शनिवार की देर रात्रि गुवाहाटी के रास्ते सीवान जंक्शन को आने वाली अवध आसाम एक्सप्रेस ट्रेन से यात्रा कर अपने सास के अंतिम संस्कार में भाग लेने आ रहे दामाद को सिवान जंक्शन पर सक्रिय जहरखुरानी ने खाद्य पदार्थ में मादक द्रव्य पदार्थ मिला,खिला पिला कर उसकी गाड़ी कमाई लूट ली।सिवान जंक्शन पर अचेत पड़े रेल यात्री को जंक्शन पर तैनात पुलिसकर्मियों ने इसकी सूचना उसके परिजनों को दूरभाष पर दी।तो मौके पर पहुंचे परिजनों ने आनन-फानन में उसे इलाज हेतु सिवान सदर अस्पताल में भर्ती कराया।ड्यूटी पर तैनात चिकित्सा पदाधिकारी डॉक्टर अहमद अली ने बताया कि मादक द्रव्य पदार्थ के सेवन से उसकी हालत चिंताजनक बनी हुई है।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
dr faisal

जिसका इलाज जारी है।जहरखुरानी के शिकार रेल यात्री की पहचान बड़हरिया थाना क्षेत्र के छोटकी पकड़ी गांव निवासी सुभाष मांझी(45 वर्ष) के रूप में की गई है।जो गांव के स्वर्गीय भूखल मांझी के बेटे बताए जा रहे हैं। जहरखुरानी के शिकार रेलयात्री के भाई अशोक मांझी ने बताया कि मेरा भाई अपनी सास के देहांत हो जाने के बाद उनके अंतिम संस्कार में भाग लेने के लिए असम के गोलाघाट जिला के फरकाटीन जंक्शन से अवध आसाम  एक्सप्रेस ट्रेन से सीवान के लिए रवाना हुए। बीच-बीच में रास्ते में उनसे यदा-कदा बात होती रही।लेकिन शनिवार की देर शाम तक उनसे बात हुई।उसके बाद उनके मोबाइल फोन पर फोन लगने के बावजूद भी उनका मोबाइल रिसीव नहीं हो पा रहा था।बार-बार घंटी जाने के बावजूद वे रिसीव नहीं कर पा रहे थे।

कि इसी बीच सिवान जंक्शन पर तैनात पुलिसकर्मियों ने उनका मोबाइल रिसीव कर के हम लोगों को सूचित किया कि आपके परिजन जहरखुरानी के शिकार हो गए हैं।तो सूचना पाकर हम सभी आनन-फानन में सिवान जंक्शन पर पहुंचे।जहां उन्हें अचेत अवस्था में उठाकर इलाज हेतु सिवान सदर अस्पताल में भर्ती कराए हैं।जहरखुरानी के शिकार रेलयात्री के भाई ने बताया कि वे पूर्ण रूप से होश में आने के बाद बता पाएंगे कि उनके पास से लूटी गई रकम कितना था।संदर्भ में पूछे जाने पर जीआरपी ने घटना से साफ साफ इंकार किया है।हालांकि जहरखुरानी के शिकार रेलयात्री का इलाज रविवार की देर रात तक सिवान के सदर अस्पताल में जारी था। वह पूर्ण रूप से बेहोशी की हालत में था।