जीरादेई: जेवर नहीं खरीदने से विवाहिता ने फांसी लगाकर की आत्महत्या

0

चार दिनों से घर में चल रहा था महिला और ससुराल वालों के साथ विवाद

परवेज अख्तर/सिवान: जिले के जीरादेई थाना क्षेत्र के जमापुर गांव में एक विवाहिता ने जेवर नहीं खरीदने से नाराज होकर फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. मृतिका लखन साह की पत्नी गुलाबी देवी बतायी जाती है. गुलाबी के पति लखन साह के मुताबिक चार रोज से परिवार में विवाद चल रहा था. वह जेवरात खरीदने की जिद कर रही थी. वही स्थानीय लोगों का कहना है कि लखन साह की बहन की शादी होने वाली है. बहन के तिलक समारोह में गुलाबी के मायके से मिला वर्तन उपहार देने के लिए परिजन ले जा रहे थे.

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
ADDD

उससे वह नाराज थी. विवाद के चलते चार रोज पहले ही वह फांसी लगाकर मरने की प्रयास की थी. परिजन उसकी इलाज निजी क्लिनिक में करा रहे थे. इलाज के क्रम में उसकी मौत बुधवार को हो गयी. परिजनों ने मृतिका के मायके बालों को इसकी सूचना दी. सूचना पर पहुंचे मायके वालों ने बताया कि करीब 6 वर्ष पहले मीरगंज थाना क्षेत्र के बालाहाता निवासी पिता महावीर साह की पुत्री गुलाबी देवी का विवाह जमापुर निवासी लखन साह के साथ हुआ था. मृतिका को एक संतान है.

मायके वालों ने लगा रहे हत्या का आरोप

मृतिका के पिता महावीर साह ने ससुराल के लोगों पर दहेज के लिए हत्या करने का आरोप लगाया है. टाउन थाने की पुलिस के समक्ष दिए अपने बयान में उसने कहा कि उनकी बेटी की शादी 2018 में हिंदू रीति रिवाज से की गई थी. लेकिन शादी के कुछ दिनों के बाद दहेज में नगदी और मोटरसाइकिल की मांग ससुराल पक्ष वालों द्वारा की जाती थी. नहीं देने पर उनके बेटी के साथ मारपीट की घटना को अंजाम दिया जाता था. उन्होंने बताया कि कई बार सामाजिक लोगों और जनप्रतिनिधियों के द्वारा सुलह समझौते का प्रयास किया गया था.

लेकिन कोई ठोस निर्णय नहीं निकल पाया. जबकि ग्रामीणों ने बताया की उसकी ननद की शादी में उसके मायके पक्ष द्वारा दिए गए वर्तन देने से वह आहत थी. वह इसके एवज में अपने पति से गहने खरीदने की मांग कर रही थी. जब उसका पति इससे आनाकानी किया तो उसने घर के पास स्थित बथान में जाकर आत्महत्या कर लिया. पुलिस का कहना है कि मायके पक्ष की तरफ से इसकी लिखित शिकायत मिली है. इसकी गंभीरता से जांच किया जा रहा है. इसमे शामिल आरोपियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई किया जाएगा. इधर पुलिस पोस्टमार्टम के बाद शव को उसके परिजनों को सौंप दिया.

शादी का माहौल गम में बदला

दो जुलाई को मृतिका की ननद की शादी है. घर में मौत हो जाने से शादी का माहौल गम में बदल गया. मृतिका के पति ने बताया कि मेरी बहन नीतू की शादी शुक्रवार को होने वाली थी. जिसकी हम लोग तैयारी कर रहे थे. शादी समारोह में शामिल होने के लिए मेरी पत्नी गुलाबी जेवरात की मांग कर रही थी.

मायके वालों ने सदर अस्पताल में किया जमकर हंगामा

विवाहिता की मौत से आक्रोशित मायके वालों ने सदर अस्पताल में जमकर हंगामा किया. इनका आरोप था कि पुलिस प्रशासन ससुरालियों से मिलकर मानले को दबाने में लगा है. उनका कहना था कि यथाशीघ्र आरोपियों की गिरफ्तारी किया जाय. क्योंकि आरोपी मौके पर मौजूद है. वही मायके वालों मृतिका के पति, सास व ससुर के साथ मारपीट भी किए. स्थानीय लोगों ने मामले को शांत कराया.