गोरेयाकोठी से अपहृत व्यवसायी बरामद, एसपी ने किया खुलासा

0

मामले में कुल 8 गिरफ्तार व नालंदा का सोनू फरार

✍️परवेज़ अख्तर/एडिटर इन चीफ:
गोरेयाकोठी के सिसई के चर्चित अपहरण कांड का पुलिस ने पूरी तरह से खुलासा कर दिया है. एसपी श्री शैलेश कुमार सिन्हा ने प्रेसवार्ता कर जानकारी दी कि व्यवसायी खगनी निवासी सुभाष प्रसाद की हाजीपुर से सकुशल बरामदगी की गई. वहीं मामले में नालंदा व वैशाली के कुल आठ अपराधियों की गिरफ्तारी की गई. जबकि नालंदा का ही सोनू कुमार फरार बताया जाता है. उसकी भी गिरफ्तारी के लिए प्रयास किये जा रहे हैं. अपहरण से लेकर बरामदगी तक की कहानी से जो अहम बात सामने आई वह थी एक करोड़ के फिरौती की मांग. गोरेयाकोठी थानाध्यक्ष श्री रणधीर कुमार ने सुभाष प्रसाद के परिजनों को हिदायत दी थी कि अगर कोई भी कॉल आता है तो शीघ्र सूचना दें. इसी बीच अपहरण करने वालों ने फोन कर एक करोड़ के फिरौती की मांग कर दी.

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2023-10-11 at 9.50.09 PM
WhatsApp Image 2023-10-30 at 10.35.50 AM
WhatsApp Image 2023-10-30 at 10.35.51 AM
ahmadali
WhatsApp Image 2023-11-01 at 2.54.48 PM

पुलिस तो इसी सुनहरे मौके की ताक में थी. एसपी के द्वारा गठित टीम तुरंत एक्टिव हो गई. जैसे ही दो हथियारबंद अपराधी मुंहफोड़ा के पास पहुंचे, पुलिस ने दोनों को पिस्टल, पांच जिंदा कारतूस व मोबाइल के साथ गिरफ्तार कर लिया. मामले में दोनों पर अलग से आर्म्स एक्ट के तहत गोरेयाकोठी कांड संख्या 194/22 दर्ज की गई. दोनों की निशानदेही पर सुभाष प्रसाद को हाजीपुर से बरामद कर लिया गया. इस दौरान यूपी के फरुखाबाद, नई दिल्ली, नवादा, वैशाली व नालंदा समेत अन्य जगहों पर छापेमारी की गई. गिरफ्तार अपराधियों में यूपी कन्नौज का फिरोज, नालंदा का सागर कुमार, विकास कुमार, सतीश पासवान, प्रवीण कुमार, नवादा का रणजीत कुमार व वैशाली का मुकेश पासवान, मनोज कुमार शामिल हैं. वहीं नालंदा का सोनू कुमार फरार बताया जा रहा है. एसपी ने बताया कि गिरफ्तार अपराधियों का साइबर क्राइम का इतिहास भी है.इसी के कारण वे जल्द पुलिस के चंगुल में नहीं फंसे.अब उनका रिकॉर्ड खंगाला जा रहा है.