महाराजगंज: देर शाम किसी के साथ जमीन की खरीद-बिक्री मामले में कहीं गए थे हरेकृष्ण

0

ट्राली बैग में वृद्ध का शव मिलना बना चर्चा का विषय, दहशत का माहौल

परवेज अख्तर/सिवान: जिले के महाराजगंज थाना क्षेत्र के पोखरा-विशुनपुरा मुख्य पथ पर पोखरा गांव के समीप सड़क किनारे ट्राली बैग में बलिया पंचायत के माधोपुर निवासी रामपुकार तिवारी के पुत्र हरेकृष्ण तिवारी का शव मिलने के बाद क्षेत्र में सनसनी है। ग्रामीणों अनुसार हरेकृष्ण तिवारी अफराद स्थित अपनी पुत्री कोमल कुमारी के यहां करीब 10 दिनों से रह रहे थे। इस घटना को ले ग्रामीणों में चर्चा है कि शातिर बदमाश द्वारा ही इस घटना को अंजाम देकर उनके शव को ट्राली बैग में रख सड़क किनारे फेंक दिया गया होगा। स्वजनों ने बताया कि वे रविवार की शाम छह बजे किसी के साथ जमीन की खरीद-बिक्री मामले में कहीं गए थे। जब देर शाम तक घर नहीं लौटे तो स्वजन उनकी खोजबीन शुरू किए। सोमवार की अल सुबह उनका पोखरा गांव में सड़क किनारे ग्रामीणों को लावारिस अवस्था में एक ट्राली बैग दिखाई दिया। ग्रामीणों ने घटना की सूचना थाना को दी। सूचना मिलते ही थानाध्यक्ष ने पुअनि दिलीप कुमार सिंह, विनोद कुमार, अविनाश कुमार को दलबल के साथ भेजा।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2023-10-11 at 9.50.09 PM
WhatsApp Image 2023-10-30 at 10.35.50 AM
WhatsApp Image 2023-10-30 at 10.35.51 AM
ahmadali
WhatsApp Image 2023-11-01 at 2.54.48 PM

घटना के विभिन्न बिंदुओं पर जांच कर रही पुलिस

थाना क्षेत्र के पोखरा-विशुनपुरा मुख्य पथ पर पोखरा गांव में सड़क किनारे ट्राली बैग में मिले हरेकृष्ण तिवारी की मौत मामले में पुलिस विभिन्न बिंदुओं पर जांच कर रही है। थानाध्यक्ष प्रमोद कुमार सिंह ने शव को पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेज दिया गया है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही उनकी मौत के कारणों का पता चल सकेगा। उन्होंने बताया कि मृतक के शरीर पर कुछ निशान नहीं था ताकि प्रतीत हो सके कि उनकी हत्या कैसे हुई है। आवेदन मिलने के बाद प्राथमिकी कर आगे की कार्रवाई की जाएगी। समाचार प्रेषण तक मृतक के स्वजन द्वारा थाना में आवेदन नहीं दिया गया था। वहीं एसडीपीओ पोलस्त कुमार ने बताया कि हरेकृष्ण तिवारी की हत्या कैसे हुई इसके लिए स्वजनों से भी पूछताछ की जा रही है। साथ ही अन्य बिंदुओं पर जांच की जा रही है।