मैरवा: सूखे खेतों तक नहर का पानी हर हाल में पहुंचे: विधायक

0

परवेज अख्तर/सिवान: खेती का समय होने एवं प्राप्त पानी नहीं होने के कारण बनी सूखे की स्थित को लेकर भाकपा माले के एक प्रतिनिधि मंडल ने स्थानीय विधायक अमरजीत कुशवाहा तथा दरौली विधायक सत्यदेव राम के नेतृत्व में मैरवा नहर प्रभाग के पदाधिकारीयों से मुलाकात की. प्रतिनिधि मंडल ने धान की रोपाई का समय होने तथा किसानों को नहर के माध्यम से पर्याप्त पानी नहीं मिल पाने की समस्या को गंभीरता से उठाया. प्रतिनिधि मंडल का कहना था कि नहर में पानी की आपूर्ति काफी कम हो रही है. छोड़ा गया पानी नहर के अंत तक नही पहुंच पा रहा है. ऐसे में किसानों को धान की रोपनी में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है. वर्षा के समय नेहरो में पानी नहीं पहुंचने का अधिकारियों द्वारा लाइनिंग की समस्या बताई गई.

विज्ञापन
WhatsApp Image 2023-01-25 at 10.13.33 PM
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2022-08-26 at 8.35.34 PM
WhatsApp Image 2022-09-15 at 8.17.37 PM

अधिकारियों ने कहा कि लाइनिंग की समस्या का मामला कोर्ट में चल रहा है. जिसकी वजह से नहरों की साफ सफाई नहीं होने के कारण पानी नहीं पहुंचने की बात कही. प्रतिनिधि मंडल में शामिल विधायक अमरजीत कुशवाहा, सत्यदेव राम, भाकपा माले प्रखंड सचिव मुकेश कुशवाहा, पूर्व जिला पार्षद उपेंद्र साह, किसान नेता अशोक प्रजापति, योगेंद्र कुशवाहा, जयराम यादव, जीशु अंसारी, अजय चौहान, विधायक प्रतिनिधि सत्येंद्र चौहान, इम्तियाज अंसारी, श्रीप्रकाश इत्यादि लोगों ने अधिकारियों द्वारा दिए गए तर्क को सिरे से खारिज कर दिया. सबने एक स्वर से सूखे के दौरान किसानों के खेतों को अंत तक पानी पहुंचाने पर जोर दिया.

विधायक सत्यदेव राम, कार्यपालक अभियंता भोरे जीवनेश्वर रजक एवं प्रदीप कुमार पासवान ने एसई सीवान से फोन पर बात कर मैरवा नहर प्रमंडल को 6 हजार क्यूसेक पानी देने की बात कही. बात चीत के दौरान उन्होंने स्वीकार किया कि नहरों को पर्याप्त मात्रा में पानी नहीं मिल पा रहा है. नहरों में लगे जंगलों की सफाई के संबंध में भी बात हुई. उस पर विभाग द्वारा तत्काल में जहां-जहां जंगल है उसके साफ-सफाई करने का भी आश्वाशन मिला. सभी अभियंताओं को शुरू से अंत तक पानी पहुंचाने के लिए गस्त करने का फैसला हुआ. पानी शुरू से अंत तक पहुंचाने की सहमति बनी. प्रतिनिधिमंडल ने कहा कि किसानों के खेत तक नहीं पहुंचता है तो मेल बड़ा आंदोलन करेगा.